0
Advertisement

नया रास्ता प्रश्न उत्तर
naya raasta question answers

नया रास्ता प्रश्न उत्तर नया रास्ता कार्यपुस्तिका जवाब naya raasta question answers naya rasta workbook answers  hindi naya rasta workbook answers naya raasta workbook answers naya raasta icse naya raasta hindi book -नया रास्ता उपन्यास ,सुषमा अग्रवाल जी द्वारा लिखित उपन्यास है .छात्रों के लिए उपयोगी प्रश्न उत्तरों को हिंदीकुंज.कॉम में संकलित किया गया है .इस क्रम में निम्नलिखित प्रश्नों को प्रस्तुत किया जा रहा है - 

१. 
प्र.क.लेखिका मीनू को दृढ़ता व साहस की मूर्ति क्यों कह रही हैं ?

उ.क. लेखिका ने मीनू को दृढ़ व साहस की मूर्ति इसीलिए कहा है क्योंकि मीनू को कई लड़कों वालों ने विवाह के लिए अस्वीकृत कर चुके थे .अमित का परिवार उसे साँवले रंग और कम दहेज़ के कारण अस्वीकृत कर चुका था .इसीलिए उसने अपनी वर्तमान परिस्थितियाँ से ऊपर उठकर एक आत्म निर्भर स्त्री बनने का निश्चय किया .

प्र.ख. विवाह के अलावा मीनू के जीवन का लक्ष्य क्या था ?

.मीनू के विवाह को उपन्यास में प्रमुखता से स्थान दिया गया है .विवाह के अलावा उसका बचपन से सपना एक वकील बनने का था .

प्र.ग.मीनू समाज के झूठे आवरण को हटाकर एक सत्य दिखाना चाहती है - स्पष्ट कीजिये . 

ग . मीनू को बार - बार लड़के वाले अस्वीकृत कर दिए जाने के कारण उसके अन्दर हीन भावना घर कर गयी थी .अब वह समाज में अपना स्थान बनाना चाहती थी .वह आत्म - निर्भर बनकर समाज में सम्मान का जीवन व्यतीत करना चाहती थी ,न की बार - बार रूप और रंग के कारण अस्वीकृत होना .

प्र.घ. प्रस्तुत पंक्तियों का भावार्थ अपने शब्दों में लिखिए . 

घ. प्रस्तुत पंक्तियों में लेखिका ने बताया है कि जीवन की परिश्त्तीं से विवश होकर मीनू के ह्रदय में कई बार हीन भावनाएं आई ,लेकिन वह हर बार हीन भावनाओं से उबर गयी .उसने साहस से काम लिया और विवाह का सपना ही देखना छोड़ दिया .उसने सामने लम्बी जिंदगी पड़ी है जिसका वह एक क्षण भी व्यर्थ नहीं खोना चाहती है .


२.
प्र.क. यहाँ विचित्र घड़ी से क्या उद्देश्य है ?

क. बेटी की विदाई का क्षण बहुत ही विचित्र होता है क्योंकि माता -पिता ने जिस बेटी को पाल - पोष कर इतना बड़ा किया ,उसी बेटी को सदा के लिए दूसरे के हाथों में सौंप देते हैं .इसीलिए लेखिका के अनुसार बेटी के विदाई का क्षण बहुत विचित्र होता है . 

प्र.ख. किसका विवाह हो रहा है ?

ख. मीनू की छोटी बहन आशा का विवाह हो रहा है . 

प्र.ग. वर्षों के प्यार - दुलार के बाद लड़की को बिछुड़ना क्यों पड़ता है ?

ग. समाज में यह परंपरा है कि लड़की के विवाह के बाद वह अपने ससुराल अर्थात पति के घर जाती है .अतः ससुराल जाने के लिए उसे अपने घर से विदा लेना पड़ता है . 

प्र.घ. बेटी पराया धन होती है का अर्थ स्पष्ट कीजिये .

घ. हिन्दू धर्म में विवाह को एक संस्कार माना जाता है .इस संस्कार में कन्यादान दिया जाता है अर्थात वर को कन्या का दान कर माता -पिता मोक्ष प्राप्ति करते हैं .इस प्रकार बेटियाँ माँ - बाप के अधिकार में न होकर वह पति के अधिकार में आ जाती है .अतः माँ - बाप के लिए बेटियाँ जन्म के बाद ही पराया धन होती है ,क्योंकि उसे एक न एक दिन ससुराल जाना है और अपना मायका छोड़ना है . 

३. 
प्र.क. आज मीनू का सपना पूरा हो गया 'स्पष्ट करें .

क. मीनू का जीवन में दो ही सपना था - एक विवाह हो जाने का और दूसरा वकील बनने का .अपनी मेहनत के बल पर वह प्रसिद्ध वकील बनी और आज वह अमित से विवाह करने जा रही है .आज वह अमित की दुल्हन बनकर ससुराल जा रही है . 

प्र.ख. क्या वकील बनना ही मीनू की मंजिल थी ?

ख.मीनू बचपन से ही वकील बनने का सपना देखती थी .अमित द्वारा अस्वीकृत होने पर वह वकालत की पढ़ाई पूरी करके वकील बनी .तो इस प्रकार वकील बनना तो उसके बचपन का सपना था ,लेकिन अमित द्वारा अस्वीकृति, इस सपने को जल्दी पूरा किया .

प्र.ग. सामाजिक बंधन से क्या मीनू मुक्त हो सकी ?

ग. मीनू कभी भी सामाजिक बंधन को तोडना नहीं चाहती थी ,बल्कि वह विवाह परंपरा में विश्वास रखती थी .वह आत्म -निर्भर बनकर ,नवयुवतियों में नव चेतना व जागृति भरना चाहती थी ,न की सामाजिक शोषण का शिकार होना चाहती थी .वकील बन जाने पर वह सामाजिक रूप में आत्म -निर्भर बन गयी .

प्र.घ. विशेष ख्याति से क्या तात्पर्य है ?

घ. अमित की दुल्हन के रूप में सभी मीनू केवल एक साधारण दुल्हन नहीं थी ,बल्कि वह मेरठ की प्रसिद्ध वकील थी ,जिसमें आत्म - विश्वास व लगन से विशेष ख्याति अर्जित कर ली थी .अतः विशेष ख्याति शब्द का प्रयोग उसके प्रसिद्ध वकील होने के रूप में किया गया है . 



एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top