0
क्या मैं जिंदा हूँ 
क्या मैं जिंदा हूँ 

क्या मैं जिंदा हूँ  आत्मा में खरोंचें हैं पैरों में विबाईयाँ हैं मेरी आँखों में जलते चरागों में एक प्रश्न लहराता है एक प्रेत की तरह ...

और जानिएं »

0
परमाणु निरस्त्रीकरण 
परमाणु निरस्त्रीकरण 

परमाणु निरस्त्रीकरण Nuclear Disarmament जब भी परमाणु हथियारों का जिक्र होता है ,तो हमें द्वित्य विश्व युद्द के दौरान हिरोशिमा और नागासाक...

और जानिएं »

0
क्रिसमस पर निबंध
क्रिसमस पर निबंध

क्रिसमस Christmas पर्व त्यौहार हमारे जीवन के वसंत हैं।  वे हमारे दैनिक जीवन में आकर्षण और रंग लाते हैं ,जीवन को नयी ताज़गी और उमंग प्रदान...

और जानिएं »

0
भारतीय महिलाएं और मानवाधिकार 
भारतीय महिलाएं और मानवाधिकार 

भारतीय महिलाएं और मानवाधिकार  महिलाओं की मानवाधिकारों की स्थिति इस मायने में निराशाजनक है कि उनके मूल अधिकारों का भारतीय समाज और राजनीति...

और जानिएं »

0
मच्छरों के प्रकोप के लिए पत्र
मच्छरों के प्रकोप के लिए पत्र

मच्छरों के प्रकोप के लिए पत्र Letter format to the Municipality to drive away mosquitoes from your area सेवा में , स्वास्थ्य अधिकारी मह...

और जानिएं »

0
बदलाव
बदलाव

बदलाव  समय की घड़ी में  समय भी समयानुसार नहीं चलता  वह बदल देता है दिशा अपनी  तनिक देर में  कुछ इस तरह  जैसे बड़बड़ा कर  बदल जाती है...

और जानिएं »

0
रेलवे कर्मचारी के अभद्र व्यवहार के पत्र 
रेलवे कर्मचारी के अभद्र व्यवहार के पत्र 

रेलवे कर्मचारी के अभद्र व्यवहार के पत्र  Indecent behaviour of Railway staff सेवा में ,  प्रभाग अधीक्षक , उत्तर रेलवे, इलाहा...

और जानिएं »

0
बोर्ड परीक्षा का पहला दिन
बोर्ड परीक्षा का पहला दिन

बोर्ड परीक्षा का पहला दिन हालांकि मैंने घड़ी में सुबह पांच बजे का अलार्म सेट कर दिया था किन्तु मुझे अलार्म की प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ी।  म...

और जानिएं »

0
मरते तो हम भी है रोज
मरते तो हम भी है रोज

मरते तो हम भी है रोज  हर तहरीर एक कयायत नही होती ! हर रखी हुई चीज अमानत नही होती !! बेबसी की जुबां में जवाब के कितनें लफ्ज हैं, वरन...

और जानिएं »
 
 
Top