0
 अपराधी कौन
अपराधी कौन

  अपराधी कौन  रात का समय था । चारो तरफ सन्नाटा पसरा हुआ था। गोलो की तेज आवाज से अचानक मेरे नींद टूटी तो मैंने अपना हाथ मोबाइल की त...

और जानिएं »

0
अकड़
अकड़

अकड़ खिचड़ी हो चुके बाल और चेहरे पर उभर आये उम्र के निशान भी अंजनी फूफाजी की अकड़ को कम नहीं कर पाये थे। अंजनी फूफाजी अपने दोस्तों के बी...

और जानिएं »

1
सुख दुःख
सुख दुःख

सुख दुःख छंद -दोहा सुख दुःख सदा न जानिए ,जीवन के हैं अंग। सुख में मन हर्षित रहे ,दुःख में सब बदरंग।। सुख वैभव क्षण मात्र हैं ,रह...

और जानिएं »

0
माँ
माँ

माँ माँ एक छोटा सा शब्द है | माँ शब्द आते ही पूरे ब्रह्मांड की शक्ति आ जाती है | माँ एक सरलता की मूर्ति होती है | माँ के बिना जीवन का...

और जानिएं »

0
दोस्ती मस्ती
दोस्ती मस्ती

दोस्ती मस्ती दिनेश और मनोज दोनो बहुत अच्छे मित्र थे।वो बचपन से ही साथ मे खेले ,पढ़े और बड़े हुए। दोनो हर मामलो में एक दूसरे को चैलेंज कि...

और जानिएं »

0
मुक्ता की उलझन
मुक्ता की उलझन

मुक्ता की उलझन मुक्ता ने जब से होश संभाला है तबसे ही वह पिता के रौद्र रूप से रूबरू रही है।मुक्ता के पिता अत्यंत विद्वान,समाज के प्रतिष...

और जानिएं »

0
हाइकु का हिन्दी संस्करण
हाइकु का हिन्दी संस्करण

हाइकु का हिन्दी संस्करण  हाइकु एक जापानी काव्य विधा है किन्तु अपनी संक्षिप्तता ओर अर्थ-गांभीर्य से यह अन्य देशों और अन्य भाषाओं में न के...

और जानिएं »

3
अंगूर खट्टे है
अंगूर खट्टे है

अंगूर खट्टे है हमने बड़ा नाम सुना था बाहुबली 2 फ़िल्म का। मेरी भी जिज्ञासा थी देखने की। पर करूँ तो क्या करूँ? बाहुबली 2 पेपर जो सिर ...

और जानिएं »

1
नेता जी का चश्मा
नेता जी का चश्मा

नेता जी का चश्मा हालदार साहब को हर पंद्रहवें दिन कंपनी के काम से सिलसिले में उस कस्बे से गुजरना पड़ता था। कस्बा बहुत बड़ा नहीं था। जिसे...

और जानिएं »
 
 
Top