0
महादेवी की रचनाधर्मिता
महादेवी की रचनाधर्मिता

संस्‍मरण साहित्‍य में महादेवी की रचनाधर्मिता संस्‍मरण विधा आधुनिक युग की देन है। इसका जन्‍म पत्र-पत्रिकाओं के माध्‍यम से हुआ था। '...

और जानिएं »

1
स्त्री विमर्श
स्त्री विमर्श

पुरुष सत्तात्मक समाज में स्त्री विमर्श हिंदी में विमर्श शब्द अंग्रेजी के ‘डिस्कोर्स’ का पर्याय है और ‘डिस्कोर्स’ लेटिन शब्द ‘Discursus (...

और जानिएं »

0
किताबों की अल्मारियाँ , पूर्वज और पिता
किताबों की अल्मारियाँ , पूर्वज और पिता

किताबों की अल्मारियाँ , पूर्वज और पिता अध्ययन-कक्ष में रखी अल्मारियों में भरी किताबों में पिता की आत्मा बसती थी । इस बड़े कमरे में लगभग ...

और जानिएं »

0
मोहनदास
मोहनदास

मोहनदास  जानते हो मोहनदास तडप तडप कर मर रही हूं मैं अंदर से और जल रही हूं बाहर से भी इतिश्री सिंह राठौर एेसा लग रहा है कि हलक के ...

और जानिएं »

0
अनूठा उपहार
अनूठा उपहार

अनूठा उपहार 5 सितम्बर शिक्षक दिवस होता है। यह जानने के लिये कि विद्यार्थियों में शिक्षकों के प्रति कितना प्रेम व सम्मान है, पाठशाला के...

और जानिएं »

0
विश्व योग दिवस
विश्व योग दिवस

मानव और प्रकृति के मध्य समन्वय ही योग है (21 जून को विश्व योग दिवस पर विशेष ) महर्षि पतंजलि के अनुसार - ‘‘अभ्यास-वैराग्य द्वारा चि...

और जानिएं »

0
मुश्किलों से जूझते रहना क़लम
मुश्किलों से जूझते रहना क़लम

मुश्किलों से जूझते रहना क़लम              मुश्किलों  से जूझते  रहना क़लम। हौंसलों की कहानी कहना क़लम।।         है   विवशता  से  भर...

और जानिएं »

0
मईया अब तुम ही समझाओ
मईया अब तुम ही समझाओ

 मईया अब तुम ही समझाओ मईया अब तुम ही समझाओ मन में प्रश्न अखरता है। रात होते ही चंदा क्यों  मेरा पीछा करता है। मैं जो चलूँ तो...

और जानिएं »

0
चुनावी हथकंडे
चुनावी हथकंडे

चुनावी हथकंडे रास्ते मे देखा एक नेता जैसा आदमी.... एक गरीब के पैर पर पड़ा था। मुझे आश्चर्य हुआ पता चला वह चुनाव में खड़ा थ...

और जानिएं »
 
 
Top