तब तुम समझोगी

SHARE:

कभी घर लेट आने पर तुम्हारे सारे कपड़े उतार कर तुम्हारा पति पहले बलात्कार करे फिर तुम्हें बेदर्दी से पीटे शॉवर ऑन करके घंटों तक रोती रहो तुम तो शायद समझ जाओगी कि कैसी हूं मैं? कभी तुम सबके सामने कुछ कहो तुम्हारी बेबाकी पर रेप करने की धमकी दे जाए गली का मुन्ना बर्फ की तरह जमी रह जाओ तुम तभी जान पाओगी कि कैसी हूं मेैं पांच साल की उम्र में कोई तुम्हारे अविकसित स्तनों को बेरहमी से दबाए और चिल्लाती रहो तुम तो शायद समझ पाओगी कि कैसी हूं मैं

तब तुम समझोगी

सीमा ! कैसी हो तुम ?
अरे ओ पगली!
कुछ बोलती क्यों नहीं?
बताओ न कैसी हो तुम ?
कई बार पूछने पर उसने कहा
क्या तुम सचमुच जानना चाहती हो 
मेरा हाल 
अगर हां ,
तो
कभी जलती हुई सिगरेट को 
अपनी छाती पर रगड़कर बुझाना
इतनी जोर से रगड़ना कि
जलती हुई सिगरेट भेद जाए तुम्हारा सीना 
और तुम दर्द से छपपटाती रहो 
तब तुम समझ जाओगी कि कैसी हूं मैं ?

कभी बायफ्रेंड की बेवफाई पर 
तुम उसे जोर से तमाचा लगाओ
और वो तुम्हें जबरदस्ती खींच कर 
तुम्हारे होठों को अपने दांतों से दबाता रहे खून न निकल आने तक 
और तड़पती रहो तुम
तब तुम समझ जाओगी कि कैसी हूं मैं

इतिश्री सिंह
इतिश्री सिंह
कभी घर लेट आने पर 
तुम्हारे सारे कपड़े उतार कर 
तुम्हारा पति पहले बलात्कार करे 
फिर तुम्हें बेदर्दी से पीटे
शॉवर ऑन करके घंटों तक रोती रहो तुम
तो शायद समझ जाओगी कि कैसी हूं मैं?

कभी तुम सबके सामने कुछ कहो 
तुम्हारी बेबाकी पर 
रेप करने की धमकी दे जाए गली का मुन्ना बर्फ की तरह जमी रह जाओ तुम
तभी जान पाओगी  कि कैसी हूं मेैं

पांच साल की उम्र में कोई तुम्हारे अविकसित स्तनों को 
बेरहमी से दबाए और चिल्लाती रहो तुम
तो शायद समझ पाओगी कि कैसी हूं मैं

कभी ल़़ड़कियों के लिए बनाए गए 
कायदों से बगावत करो तुम और 
समाज के ठेकेदार तुम्हें 
चरित्रहीन वैश्या साबित कर दें 
और
अपना गुस्सा भी जाहिर न कर पाओ तुम
तो शायद महसूस कर पाओगी तुम
 कि कैसी हूं मैं 

फिर भी अगर मेरी हालात का अंदाज़ा
न लगा पाओ 
तो अपने से 
20 साल बड़े उम्र के एक आदमी से
शादी कर लेना 
और देखना किस तरह 
रोज रात को दम तोड़ती है विस्तर पर 
एक जवान लड़की की आत्मा 
तब शायद तुम कभी यह न पूछोगी मुझसे
कि कैसी हूं मैं

और अगर गलती से तुमने यह सवाल कर भी लिया
तो मैं फिर भी मुस्कुराती रहूंगी 
जख्मों को छिपाती रहूंगी 
हमेशा
उसी तरह 
जैसे आज मुस्कुरा रही हूँ मैं ।।



विडियो के रूप में देखें :- 






इतिश्री सिंह राठौर (श्री) जी, कथाकार व उपन्यासकार के रूप में प्रसिद्ध हैं। वर्तमान में आप हिंदी दैनिक नवभारत के साथ जुड़ी हुई हैं. दैनिक हिंदी देशबंधु के लिए कईं लेख लिखे , इसके अलावा इतिश्री जी ने 50 भारतीय प्रख्यात व्यंग्य चित्रकर के तहत 50 कार्टूनिस्टों जीवनी पर लिखे लेखों का अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद किया. आप,अमीर खुसरों तथा मंटों की रचनाओं के काफी प्रभावित हैं.

COMMENTS

BLOGGER: 6
  1. दर्द को बयाँ करती दर्दनाक रचना.

    अयंगर

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बेहतरीन कविता , लेकिन एकपक्षीय दृष्टि से देखती हुई ,पुरुष वर्ग से पूर्वाग्रह से पीड़ित लेखिका ..
    @संदीप सिंह

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कभी मौका मिला तोह दूसरे पक्ष को भी उजागर करने की कोशिश करुँगी

      हटाएं
  3. Well... good kahu k bad. Muje nahi pta. Par muje bhi yahi mahsus hota h.. humesha ye bs youngsters ko use krte h.. boy ho yaa girls. Boys ko use use karte h apna maksad k liye.. kyoki inki kandho me vo jor nahi hota inke khoon me vo ubaal nahi hota... itnka maksad humare kisi kaam ka nahi hota... lekin ye apna experience use kr k shadho ka jaal banate h aur uljate h baato me... apna maqsad hum par thopte h. 100 me se 90 baar inke saare maqsad youngsters k kisi kaam k nahi hote.... In girls case me bhi ye log yahi funda use karte h... Age is just number jese words ko wrongly use krte h... bold decision nd all.. jese baate karte h. Jesa tumne likha h sachai ka pta to room me hi chalta h... isme saara kasur ladki ka nahi hota. Aadmi ka kasur h... lekin sabse bade kasurwar vo padhi likhi women hoti h... jo aise sabhi article nd post jo bhi different websites par hote h... aur jinme kikha hota aisa ladka choose karo boyfriend banane k liye. Wesi ladki choose karo... type. Aur specialy wo post jo aged relationship ki sahi batane k liye.... likhe gye hote h. Mei aged relationship khilaf bhi nahi hu aur favour me bhi nahi.... lekin muje sabse ghatiya vo women lagti h jo is tarah k post ko upvote krti h aur like karti h... aur sath me comments bhi katri h.. yes its good. Ye sahi h.... ye freedom h.... nd all. Agar vo women itni hi samajhdar aur padhi likhi hoti h... to unhe comments me likhna chahiye... BETA WO KARO JO TUMHARA DIL BOL RHA H.. wo nahi jo upper post me likha... Agar confuse ho to koi decision na karna hi sahi h....

    उत्तर देंहटाएं
  4. Uppar bakwas likha h, comment ye hai...... Saari maar dadh Maje se Enjoy kar li :) :). Ab beth k baatein bna rhi ho [-( [-(

    उत्तर देंहटाएं
आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

Advertisements

इन्हें भी पढ़ें -

नाम

अंग्रेज़ी हिन्दी शब्दकोश,3,अकबर इलाहाबादी,11,अकबर बीरबल के किस्से,58,अज्ञेय,27,अटल बिहारी वाजपेयी,1,अदम गोंडवी,3,अनंतमूर्ति,3,अनौपचारिक पत्र,16,अन्तोन चेख़व,2,अमीर खुसरो,6,अमृत राय,1,अमृतलाल नागर,1,अमृता प्रीतम,5,अयोध्यासिंह उपाध्याय "हरिऔध",4,अली सरदार जाफ़री,3,अष्टछाप,2,असगर वज़ाहत,11,आनंदमठ,4,आरती,9,आर्थिक लेख,5,आषाढ़ का एक दिन,10,इक़बाल,2,इब्ने इंशा,27,इस्मत चुगताई,3,उपेन्द्रनाथ अश्क,1,उर्दू साहित्‍य,176,उर्दू हिंदी शब्दकोश,1,उषा प्रियंवदा,1,एकांकी संचय,7,औपचारिक पत्र,31,कबीर के दोहे,19,कबीर के पद,1,कबीरदास,10,कमलेश्वर,4,कविता,634,कहानी सुनो,2,काका हाथरसी,4,कामायनी,5,काव्य मंजरी,11,काव्यशास्त्र,1,काशीनाथ सिंह,1,कुंज वीथि,12,कुँवर नारायण,1,कुबेरनाथ राय,1,कुर्रतुल-ऐन-हैदर,1,कृष्णा सोबती,1,केदारनाथ अग्रवाल,1,केशवदास,1,कैफ़ी आज़मी,4,क्षेत्रपाल शर्मा,32,खलील जिब्रान,3,ग़ज़ल,80,गजानन माधव "मुक्तिबोध",10,गीतांजलि,1,गोदान,6,गोपाल सिंह नेपाली,1,गोपालदास नीरज,8,गोरा,2,घनानंद,1,चन्द्रधर शर्मा गुलेरी,2,चित्र शृंखला,1,चुटकुले जोक्स,15,छायावाद,6,जगदीश्वर चतुर्वेदी,8,जयशंकर प्रसाद,18,जातक कथाएँ,10,जीवन परिचय,12,ज़ेन कहानियाँ,2,जैनेन्द्र कुमार,1,जोश मलीहाबादी,2,ज़ौक़,4,तुलसीदास,5,तेलानीराम के किस्से,7,त्रिलोचन,1,दाग़ देहलवी,5,दादी माँ की कहानियाँ,1,दुष्यंत कुमार,7,देव,1,देवी नागरानी,23,धर्मवीर भारती,2,नज़ीर अकबराबादी,3,नव कहानी,2,नवगीत,1,नागार्जुन,15,नाटक,1,निराला,27,निर्मल वर्मा,1,निर्मला,26,नेत्रा देशपाण्डेय,3,पंचतंत्र की कहानियां,42,पत्र लेखन,124,परशुराम की प्रतीक्षा,3,पांडेय बेचन शर्मा 'उग्र',3,पाण्डेय बेचन शर्मा,1,पुस्तक समीक्षा,61,प्रेमचंद,22,प्रेमचंद की कहानियाँ,89,प्रेरक कहानी,15,फणीश्वर नाथ रेणु,1,फ़िराक़ गोरखपुरी,9,फ़ैज़ अहमद फ़ैज़,24,बच्चों की कहानियां,68,बदीउज़्ज़माँ,1,बहादुर शाह ज़फ़र,6,बाल कहानियाँ,14,बाल दिवस,3,बालकृष्ण शर्मा 'नवीन',1,बिहारी,1,बैताल पचीसी,2,भक्ति साहित्य,98,भगवतीचरण वर्मा,5,भवानीप्रसाद मिश्र,3,भारतीय कहानियाँ,59,भारतीय व्यंग्य चित्रकार,7,भारतेन्दु हरिश्चन्द्र,6,भीष्म साहनी,5,भैरव प्रसाद गुप्त,2,मंगल ज्ञानानुभाव,22,मजरूह सुल्तानपुरी,1,मधुशाला,7,मनोज सिंह,16,मन्नू भंडारी,3,मलिक मुहम्मद जायसी,1,महादेवी वर्मा,12,महावीरप्रसाद द्विवेदी,1,महीप सिंह,1,महेंद्र भटनागर,73,माखनलाल चतुर्वेदी,3,मिर्ज़ा गालिब,39,मीर तक़ी 'मीर',20,मीरा बाई के पद,22,मुल्ला नसरुद्दीन,6,मुहावरे,4,मैथिलीशरण गुप्त,8,मोहन राकेश,9,यशपाल,9,रंगराज अयंगर,41,रघुवीर सहाय,5,रणजीत कुमार,29,रवीन्द्रनाथ ठाकुर,21,रसखान,11,रांगेय राघव,2,राजकमल चौधरी,1,राजनीतिक लेख,11,राजभाषा हिंदी,47,राजिन्दर सिंह बेदी,1,राजीव कुमार थेपड़ा,4,रामचंद्र शुक्ल,1,रामधारी सिंह दिनकर,17,रामप्रसाद 'बिस्मिल',1,रामविलास शर्मा,8,राही मासूम रजा,8,राहुल सांकृत्यायन,1,रीतिकाल,3,रैदास,2,लघु कथा,68,लोकगीत,1,वरदान,11,विचार मंथन,60,विज्ञान,1,विदेशी कहानियाँ,17,विद्यापति,4,विविध जानकारी,1,विष्णु प्रभाकर,1,वृंदावनलाल वर्मा,1,वैज्ञानिक लेख,3,शमशेर बहादुर सिंह,5,शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय,1,शरद जोशी,3,शिवमंगल सिंह सुमन,5,शुभकामना,1,शैक्षणिक लेख,9,शैलेश मटियानी,2,श्यामसुन्दर दास,1,श्रीकांत वर्मा,1,श्रीलाल शुक्ल,1,संस्मरण,9,सआदत हसन मंटो,9,सतरंगी बातें,33,सन्देश,11,समीक्षा,1,सर्वेश्वरदयाल सक्सेना,16,सारा आकाश,12,साहित्य सागर,21,साहित्यिक लेख,17,साहिर लुधियानवी,5,सिंह और सियार,1,सुदर्शन,1,सुदामा पाण्डेय "धूमिल",6,सुभद्राकुमारी चौहान,6,सुमित्रानंदन पन्त,16,सूरदास,4,सूरदास के पद,21,स्त्री विमर्श,9,हजारी प्रसाद द्विवेदी,1,हरिवंशराय बच्चन,26,हरिशंकर परसाई,21,हिंदी कथाकार,12,हिंदी निबंध,151,हिंदी लेख,282,हिंदी समाचार,62,हिंदीकुंज सहयोग,1,हिन्दी,5,हिन्दी टूल,4,हिन्दी आलोचक,7,हिन्दी कहानी,31,हिन्दी गद्यकार,4,हिन्दी दिवस,38,हिन्दी वर्णमाला,3,हिन्दी व्याकरण,43,हिन्दी संख्याएँ,1,हिन्दी साहित्य,8,हिन्दी साहित्य का इतिहास,22,हिन्दीकुंज विडियो,11,aaroh bhag 2,13,astrology,1,Attaullah Khan,1,baccho ke liye hindi kavita,55,Beauty Tips Hindi,3,English Grammar in Hindi,3,hindi ebooks,5,Hindi Ekanki,6,hindi essay,143,hindi grammar,50,Hindi Sahitya Ka Itihas,37,hindi stories,440,ICSE Hindi Gadya Sankalan,11,Kshitij Bhag 2,10,mb,72,motivational books,9,naya raasta icse,8,Notifications,5,question paper,8,quizzes,8,Shayari In Hindi,12,sponsored news,2,Syllabus,7,VITAN BHAG-2,5,vocabulary,15,
ltr
item
हिन्दीकुंज,Hindi Website/Literary Web Patrika: तब तुम समझोगी
तब तुम समझोगी
कभी घर लेट आने पर तुम्हारे सारे कपड़े उतार कर तुम्हारा पति पहले बलात्कार करे फिर तुम्हें बेदर्दी से पीटे शॉवर ऑन करके घंटों तक रोती रहो तुम तो शायद समझ जाओगी कि कैसी हूं मैं? कभी तुम सबके सामने कुछ कहो तुम्हारी बेबाकी पर रेप करने की धमकी दे जाए गली का मुन्ना बर्फ की तरह जमी रह जाओ तुम तभी जान पाओगी कि कैसी हूं मेैं पांच साल की उम्र में कोई तुम्हारे अविकसित स्तनों को बेरहमी से दबाए और चिल्लाती रहो तुम तो शायद समझ पाओगी कि कैसी हूं मैं
https://4.bp.blogspot.com/-SpCtEpCpJ_Y/VMTQkf-rJUI/AAAAAAAAF6U/0s-ookuOYnI/s1600/20141114_084859.png
https://4.bp.blogspot.com/-SpCtEpCpJ_Y/VMTQkf-rJUI/AAAAAAAAF6U/0s-ookuOYnI/s72-c/20141114_084859.png
हिन्दीकुंज,Hindi Website/Literary Web Patrika
https://www.hindikunj.com/2017/03/tab-tum.html
https://www.hindikunj.com/
https://www.hindikunj.com/
https://www.hindikunj.com/2017/03/tab-tum.html
true
6755820785026826471
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy