नारी / माधवी त्रिपाठी की कविता

SHARE:

नारी / माधवी त्रिपाठी की कविता

नारी ही अभागन क्यों ?
समझ नहीं पाती हूँ ,
उत्तर की कोशिश में मैं
केवल भटकती रह जाती हूँ
माँ बहन ,बेटी का सदैव ,
रूप धर कर वह आती है ,
सबका पालन पोषण करके -
स्वयं तृप्त हो जाती है ,
संतान का दुःख है उसका अपना ,
उनकी ख़ुशी में वह खुश रहती है ,
आत्मा हो जाए चाहे तार  तार
पर हरदम हँसती रहती है .
हर त्याग उसका है अलौकिक,
हर छटा उनकी  निराली है .
त्याग के बदले पाती है दुःख ,
यह नारी की अमिट कहानी है .


यह रचना माधवी त्रिपाठी जी द्वारा लिखी गयी है .उनकी यह कविता उनके काव्य - संग्रह 'इन्द्रधनुष' से लिया गया है.माधवी जी,कलकत्ता में अध्यापिका के रूप में कार्यरत है. आकाशवाणी के युववाणी कार्यक्रम में आपकी कई कविताओं  का  सफलतापूर्वक प्रसारण हुआ है  तथा कलकत्ता के प्रसिद्ध समाचार पत्रों एवं पत्रिकाओं में आपके विविध लेखों और रचनाओं का समय - समय पर प्रकाशन होता रहता है .

COMMENTS

BLOGGER: 23
  1. बेनामीमई 12, 2012 12:31 am

    nari kavita sarahneey hai..man ko choo lene wali rachna hai ..sach hi toh hai aadhunikta aur vikas ki daud mein nari aaj bhi wonhi hai ..

    उत्तर देंहटाएं
  2. नारी जैसा इस संसार में कोई नहीं,जिसके बल पर सारी स्रष्टि चल रही है,नारी नहीं होती सायद यह स्रष्टि भी नहीं होतीं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. arbind kumar singhमई 12, 2012 8:53 pm

    madhavi ki yah rachna man ko chhoo gayi hai .nari tum se hi ye duniya chalayman hai..nari ke har roop ko shat shat naman.....arbind kumar singh.

    उत्तर देंहटाएं
  4. arbind kumar singhमई 12, 2012 9:01 pm

    aapki kavita parhkar Gupt ji ki panktiyan yaad aa gayi.ur poem is really as good as that poem .it reaaly sums up the life of greatest creation of god .aapki kavita marmsthal ko chhoo gayi.congrats.u r a great mother and a beutiful nd wonderful person.love you..

    उत्तर देंहटाएं
  5. arbind kumar singhमई 12, 2012 9:05 pm

    madhavi ki rachna sarahneey hai.nari ke har roop ko shat shat naman..keep going madhavi ,proud of you.

    उत्तर देंहटाएं
  6. aapki rachna ko parhkar maithiisharan gupt ki yaad aa gayi.ur poem is really great.it really sums up the life of greatest creation of god beutifully.aapki kavita marmsthal ko chhoo gayi.congrats.u r a great and wonderful person.keep up the work.love you.

    उत्तर देंहटाएं
  7. you are the greatest woman mummum..love you a iot.read ur poem and loved it too.

    उत्तर देंहटाएं
  8. read your poem , & liked it very much.keep up your good work.lots love and best wishes.

    उत्तर देंहटाएं
  9. soor soor tulsi shashi
    madhavi navodit kali
    ras se poori bhari
    khilegi mehakegi
    mehkayegi kavitaon ka chaman
    hamari shubhkamna
    aur hai shat shat naman!

    उत्तर देंहटाएं
  10. bahut dinon se mahadevi ki kami sahity jagat ko khal rahi thi par vishwas ke sath keh raha hoon ab nahi khalegi kyunki.....
    krantikari kaviyatri madhavi ne sahitya-prangan mein padarpan kar liya hai.

    उत्तर देंहटाएं
  11. thank you for such a wonderful poetry on the most beautiful creation of god .touched me and my family member's heart very deeply..best wishes .

    उत्तर देंहटाएं
  12. aisi kavita ka swagat jazimi hai. nirantar ye silsila bani rahe yah kamna hai.

    उत्तर देंहटाएं
  13. subhan allah!kya khoob likha hai aapne nari ke baare mein.sach hi toh hai nari ke bina puri qqynat adhoori hai.

    उत्तर देंहटाएं
  14. nari tum kewal shraddha ho ...aur tumhari rachna shraddhey aur prashansneey..we are proud of you..agli rachna ka besabri se intezar hai ..

    उत्तर देंहटाएं
  15. inki kavita bahut achi lagi .eshe hi likhti rahiye,

    उत्तर देंहटाएं
  16. aapki kavita dil ko choo gayi ..badhai ho.

    उत्तर देंहटाएं
  17. shailendra mishraमई 16, 2012 10:06 pm

    aapki kavita man ko choo gayi..aasha hai aage aur bhi rachnayen parhne milengi ..shubhkamnayen.

    उत्तर देंहटाएं
  18. kavita nein mere maan ko chu liya hain.. maa se bara is sansar mein koi bhi nahi.. isi tara likhte rahiye.. mere shub kamna apke saath :)

    उत्तर देंहटाएं
  19. agli rachna ka intjar hai madhaviji but this one is very nice

    उत्तर देंहटाएं
  20. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

Advertisements

इन्हें भी पढ़ें -

नाम

अंग्रेज़ी हिन्दी शब्दकोश,3,अकबर इलाहाबादी,11,अकबर बीरबल के किस्से,58,अज्ञेय,27,अटल बिहारी वाजपेयी,1,अदम गोंडवी,3,अनंतमूर्ति,3,अनौपचारिक पत्र,16,अन्तोन चेख़व,2,अमीर खुसरो,6,अमृत राय,1,अमृतलाल नागर,1,अमृता प्रीतम,5,अयोध्यासिंह उपाध्याय "हरिऔध",4,अली सरदार जाफ़री,3,अष्टछाप,2,असगर वज़ाहत,11,आनंदमठ,4,आरती,9,आर्थिक लेख,5,आषाढ़ का एक दिन,10,इक़बाल,2,इब्ने इंशा,27,इस्मत चुगताई,3,उपेन्द्रनाथ अश्क,1,उर्दू साहित्‍य,176,उर्दू हिंदी शब्दकोश,1,उषा प्रियंवदा,1,एकांकी संचय,7,औपचारिक पत्र,31,कबीर के दोहे,19,कबीर के पद,1,कबीरदास,10,कमलेश्वर,4,कविता,640,कहानी सुनो,2,काका हाथरसी,4,कामायनी,5,काव्य मंजरी,11,काव्यशास्त्र,1,काशीनाथ सिंह,1,कुंज वीथि,12,कुँवर नारायण,1,कुबेरनाथ राय,1,कुर्रतुल-ऐन-हैदर,1,कृष्णा सोबती,1,केदारनाथ अग्रवाल,1,केशवदास,1,कैफ़ी आज़मी,4,क्षेत्रपाल शर्मा,32,खलील जिब्रान,3,ग़ज़ल,81,गजानन माधव "मुक्तिबोध",10,गीतांजलि,1,गोदान,6,गोपाल सिंह नेपाली,1,गोपालदास नीरज,8,गोरा,2,घनानंद,1,चन्द्रधर शर्मा गुलेरी,2,चित्र शृंखला,1,चुटकुले जोक्स,15,छायावाद,6,जगदीश्वर चतुर्वेदी,8,जयशंकर प्रसाद,18,जातक कथाएँ,10,जीवन परिचय,12,ज़ेन कहानियाँ,2,जैनेन्द्र कुमार,1,जोश मलीहाबादी,2,ज़ौक़,4,तुलसीदास,5,तेलानीराम के किस्से,7,त्रिलोचन,1,दाग़ देहलवी,5,दादी माँ की कहानियाँ,1,दुष्यंत कुमार,7,देव,1,देवी नागरानी,23,धर्मवीर भारती,2,नज़ीर अकबराबादी,3,नव कहानी,2,नवगीत,1,नागार्जुन,15,नाटक,1,निराला,27,निर्मल वर्मा,1,निर्मला,26,नेत्रा देशपाण्डेय,3,पंचतंत्र की कहानियां,42,पत्र लेखन,126,परशुराम की प्रतीक्षा,3,पांडेय बेचन शर्मा 'उग्र',3,पाण्डेय बेचन शर्मा,1,पुस्तक समीक्षा,62,प्रेमचंद,22,प्रेमचंद की कहानियाँ,89,प्रेरक कहानी,15,फणीश्वर नाथ रेणु,1,फ़िराक़ गोरखपुरी,9,फ़ैज़ अहमद फ़ैज़,24,बच्चों की कहानियां,68,बदीउज़्ज़माँ,1,बहादुर शाह ज़फ़र,6,बाल कहानियाँ,14,बाल दिवस,3,बालकृष्ण शर्मा 'नवीन',1,बिहारी,1,बैताल पचीसी,2,भक्ति साहित्य,99,भगवतीचरण वर्मा,5,भवानीप्रसाद मिश्र,3,भारतीय कहानियाँ,59,भारतीय व्यंग्य चित्रकार,7,भारतेन्दु हरिश्चन्द्र,6,भीष्म साहनी,5,भैरव प्रसाद गुप्त,2,मंगल ज्ञानानुभाव,22,मजरूह सुल्तानपुरी,1,मधुशाला,7,मनोज सिंह,16,मन्नू भंडारी,3,मलिक मुहम्मद जायसी,1,महादेवी वर्मा,12,महावीरप्रसाद द्विवेदी,1,महीप सिंह,1,महेंद्र भटनागर,73,माखनलाल चतुर्वेदी,3,मिर्ज़ा गालिब,39,मीर तक़ी 'मीर',20,मीरा बाई के पद,22,मुल्ला नसरुद्दीन,6,मुहावरे,4,मैथिलीशरण गुप्त,8,मोहन राकेश,9,यशपाल,9,रंगराज अयंगर,41,रघुवीर सहाय,5,रणजीत कुमार,29,रवीन्द्रनाथ ठाकुर,21,रसखान,11,रांगेय राघव,2,राजकमल चौधरी,1,राजनीतिक लेख,11,राजभाषा हिंदी,47,राजिन्दर सिंह बेदी,1,राजीव कुमार थेपड़ा,4,रामचंद्र शुक्ल,1,रामधारी सिंह दिनकर,17,रामप्रसाद 'बिस्मिल',1,रामविलास शर्मा,8,राही मासूम रजा,8,राहुल सांकृत्यायन,1,रीतिकाल,3,रैदास,2,लघु कथा,70,लोकगीत,1,वरदान,11,विचार मंथन,60,विज्ञान,1,विदेशी कहानियाँ,19,विद्यापति,4,विविध जानकारी,1,विष्णु प्रभाकर,1,वृंदावनलाल वर्मा,1,वैज्ञानिक लेख,3,शमशेर बहादुर सिंह,5,शरत चन्द्र चट्टोपाध्याय,1,शरद जोशी,3,शिवमंगल सिंह सुमन,5,शुभकामना,1,शैक्षणिक लेख,9,शैलेश मटियानी,2,श्यामसुन्दर दास,1,श्रीकांत वर्मा,1,श्रीलाल शुक्ल,1,संस्मरण,9,सआदत हसन मंटो,9,सतरंगी बातें,33,सन्देश,11,समीक्षा,1,सर्वेश्वरदयाल सक्सेना,16,सारा आकाश,12,साहित्य सागर,21,साहित्यिक लेख,17,साहिर लुधियानवी,5,सिंह और सियार,1,सुदर्शन,1,सुदामा पाण्डेय "धूमिल",6,सुभद्राकुमारी चौहान,6,सुमित्रानंदन पन्त,16,सूरदास,4,सूरदास के पद,21,स्त्री विमर्श,9,हजारी प्रसाद द्विवेदी,1,हरिवंशराय बच्चन,26,हरिशंकर परसाई,21,हिंदी कथाकार,12,हिंदी निबंध,155,हिंदी लेख,288,हिंदी समाचार,62,हिंदीकुंज सहयोग,1,हिन्दी,5,हिन्दी टूल,4,हिन्दी आलोचक,7,हिन्दी कहानी,31,हिन्दी गद्यकार,4,हिन्दी दिवस,39,हिन्दी वर्णमाला,3,हिन्दी व्याकरण,43,हिन्दी संख्याएँ,1,हिन्दी साहित्य,8,हिन्दी साहित्य का इतिहास,22,हिन्दीकुंज विडियो,11,aaroh bhag 2,13,astrology,1,Attaullah Khan,1,baccho ke liye hindi kavita,55,Beauty Tips Hindi,3,English Grammar in Hindi,3,hindi ebooks,5,Hindi Ekanki,6,hindi essay,147,hindi grammar,50,Hindi Sahitya Ka Itihas,37,hindi stories,443,ICSE Hindi Gadya Sankalan,11,Kshitij Bhag 2,10,mb,72,motivational books,9,naya raasta icse,8,NCERT Vasant Bhag 3 For Class 8,2,Notifications,5,question paper,8,quizzes,8,Shayari In Hindi,12,sponsored news,2,Syllabus,7,VITAN BHAG-2,5,vocabulary,15,
ltr
item
हिन्दीकुंज,Hindi Website/Literary Web Patrika: नारी / माधवी त्रिपाठी की कविता
नारी / माधवी त्रिपाठी की कविता
नारी / माधवी त्रिपाठी की कविता
हिन्दीकुंज,Hindi Website/Literary Web Patrika
https://www.hindikunj.com/2012/05/naarimaadhvi-tripathi-ki-kavita.html
https://www.hindikunj.com/
https://www.hindikunj.com/
https://www.hindikunj.com/2012/05/naarimaadhvi-tripathi-ki-kavita.html
true
6755820785026826471
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy