0
Advertisement

समाचार पत्र का महत्व बताते हुए मित्र को पत्र 




१२५, विकासनगर , 
लखनऊ - ७५ 
दिनांकः २४/०३/२०१९ 


प्रिय मित्र , 
कैसे हो ? तुम्हारा पत्र मिला .सब समाचार आनंद से है .मेरी वार्षिक परिक्षाएं समाप्त हो चुकी हैं .इस समय मैं स्वाध्याय कर रहा है .वार्षिक परीक्षा परिणाम अभी तक नहीं प्राप्त हुए हैं .

मुझे चाचा जी द्वारा पता चला कि तुम केवल अपने अध्ययन में ही रमे रहते हो . दुनिया में क्या हो रहा है ,तुम्हे पता नहीं रहता है .मैं चाहता हूँ कि तुम संसार भर में घट रही घटनाओं को जानने के लिए समाचार पत्र पढो .समाचार पत्र हमारे लिए बहुत उपयोगी एवं लाभदायक हैं . समाचार पत्र वह माध्यम है जिससे हमें सम्पूर्ण संसार की खबर रोज मिलती है .आज सभी देश एक दूसरे से जुड़े हुए हैं . समाचार पत्र ही एक ऐसा सस्ता साधन है जिससे देश का हर व्यक्ति लाभ उठा सकता है .समाचार पत्र में केवल देश - विदेश की खबरें ही नहीं छपती , बल्कि अन्य प्रकार की जानकारी भी होती है . बच्चों के लिए छोटी - छोटी कविताएँ एवं कहानियाँ भी छपती हैं , जिसे पढ़कर वे आनंद विभोर हो जाते है . समाचार पत्र में सिनेमा , समाचार ,विभिन्न प्रकार के विज्ञापन आदि भी छपते हैं .

अतः मित्र ,तुम मेरी बातों पर ध्यान दो और नियमित एक दैनिक समाचार पत्र पढो .यह तुम्हारे भविष्य के लिए प्रतियोगी परीक्षा में भी लाभदायक रहेगा .मैं इस बार गर्मियों की छुट्टीयों में तुम्हारे घर आऊँगा . चाचा जी व चाचा जी को मेरा प्रणाम कहना व दीप्ती बहन को मेरा स्नेह देना .शेष अलगे पत्र में . 

तुम्हारा मित्र 
रजनीश सिंह 


एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top