0
Advertisement

विज्ञान के वरदान
Essays on the Gift of Science in Hindi



विज्ञान के वरदान पर निबंध Essays on the Gift of Science in Hindi विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध हिंदी में - एक समय था जब मानव को प्रकृति के सामने नतमस्तक होना पड़ता था .चन्द्रमा और अन्य ग्रह अब अत्यंत दूर स्थित स्वर्ग की चीज़ें नहीं रह गयी हैं .मानव ने महासागरों की गहराइयों ,सबसे ऊँचे पर्वतों और सबसे शीत स्थानों ,हर जगह अपनी उपस्थिति और सफलता के झंडे गाड़ दिए हैं .हमारा आज का युग कंप्यूटरों ,लेसर किरणों ,निर्देशित ,रोबटों ,इंटरनेट आदि का है .विज्ञान ने आज की सभ्यता के हर पहलू को इतना अधिक प्रभावित किया है जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी . 

हमारा जीवन आसान - 

विज्ञान के योगदान
विज्ञान के योगदान 
आधुनिक विज्ञान के योगदानों की बदोलौत  आज हमारा जीवन आसान ,आरामदेह ,विलासितापूर्ण और बहुत कम परेशानियां वाला हो गया है .आज काम या कार्य का अर्थ है वातानुकूलित कमरों में बैठकर केवल कंप्यूटर पर कुछ बटन दबाकर सारी प्रक्रिया को नियंत्रित करना .विज्ञान ने न केवल हमारे जीवन को आसान बना दिया है ,बल्कि हमारे जीवन स्तर को भी काफी हद तक ऊँचा उठा दिया है .विज्ञान ने ज्ञान ,शिक्षा और चिकित्सा सुविधाओं के क्षेत्र में जबरदस्त सुधार किये हैं .खाद्यान्न के उत्पादन और कृषि के क्षेत्र में भी विज्ञान ने वरदान की तरह असीम लाभ पहुँचाया है .भारत में हरित क्रांति अथवा ऑपरेशन फ्लड दूध उत्पादन कृषि तथा दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में विज्ञान के योगदान की कहानी स्वयं बयान करते हैं . 

परिवहन एवं संचार - 

विज्ञान ने हमारे परिवहन एवं संचार के चेहरे को ही पूरी तरह से बदल कर रख दिया है .एक समय था जब यात्रा के नाम से लोग भयभीत हो जाते थे .आज लोग यात्रा में आनंद उठाते हैं .आज यात्रा करना अत्यंत तीव्र ,सुविधापूर्ण और सुखकर हो गया है .अब दूरी हमारे लिए कोई बड़ी सीमा नहीं रही .टेलीविजन और इंटरनेट ने हमारी दुनिया को एक छोटा सा स्थान बना दिया है .हजारों मील की दूरी पर घट रही घटनाओं को भी अपने घरों में बैठे - बैठे कुछ सेकंडों के अन्दर देखा जा सकता है . 

विज्ञान का उपयोग - 

इस प्रकार से हम कह सकते हैं कि विज्ञान ने हमारे अस्तित्व के समग्र स्वरुप को ही बदलकर रख दिया है .इसने हमारी जीवन शैली ,कार्यप्रणाली ,शिक्षा और फुर्सत ,सबमें सुधार और परिवर्तन किये हैं .हमारी आज की सभ्यता सचमुच में आधुनिक विज्ञान की दें हैं .किसी ने इसीलिए सच ही कहा है कि विज्ञान ने नेत्रहीनों को आँखें ,बहरों को कान और अपंगों को अंग प्रदान किये हैं .इसके बावजूद इसी विज्ञान को विध्वंस और मानवजाति के विनाश के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता हैं .यह हमारे हाथों में विद्यमान ऐसा उपकरण है जिसे हम अपने हित में अथवा अपने विनाश के लिए प्रयोग कर सकते हैं .यह निर्भर करता हैं कि मानव विज्ञान का उपयोग कैसे करता हैं . 


एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top