3
Advertisement

वर्षा ऋतु पर निबंध
Rainy Season Essay in Hindi

वर्षा  ऋतु सभी ऋतुओं की रानी है . गर्मी में प्रचंड कष्ट भोगने के बाद यह ऋतु आती है . वर्षा का आगमन सबके लिए सुखदायी होता है . यह  ऋतु वर्षा करने वाली होती है .इसीलिए इसका नाम वर्षा  ऋतु है . इस  ऋतु का आगमन जून महीने से आरम्भ होता है और इसका कार्य सितम्बर महीने तक चलता है .

वर्णन :

वर्षा  ऋतु के आगमन के साथ ही साथ आकाश बादलों से ढक जाता है . कभी - कभी तो सम्पूर्ण दिन सूर्य भगवान् का दर्शन ही नहीं हो पाता . इस समय बादल जलसे पूर्ण होते है . कभी - कभी तो बहुत जोर की गर्जन से प्रारंभ होती है . वर्षा काल में भारी वर्षा के कारण नदी नाले भर जाते हैं . हर जगह हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है . एक कहावत भी है - सावन के अंधे को सब कुछ हरा ही हरा दिखाई देता है . बादल केवल पानी ही नहीं बरसाते बल्कि कभी - कभी ओले की भी वर्षा करते हैं . वर्षा से नदियों में बाढ़ आ जाती है . इस समय मोर नाचते तथा मेढ़क टर -टर की आवाज करते हैं .


लाभ :

वर्षा  ऋतु में उल्लास बढ़ जाता है . कृषक प्रसन्न होकर अपने खेतों में काम करने लग जाते हैं . हमारे देश की कृषि पूर्ण -रूपेण वर्षा पर ही निर्भर करती है . इस ऋतू में धान की खेती प्रमुख रूप से की जाती है . वर्षा  ऋतु के आगमन के साथ - ही - साथ कवियों की लेखनी प्रकृति की सुन्दर रचनाएँ करने लगती हैं .

हानि :

वर्षा से केवल उपकार ही नहीं होता , हानि भी होती है . भयंकर वर्षा होने पर गाँवों का रास्ता घात कीचड़ से भर जाता है . मकान धराशायी हो जाते हैं . शहरों में सड़कें जलमग्न हो जाती हैं .

उपसंहार :

ऐसे तो वर्षा  ऋतु लोगों के लिए काफी कष्टदायी होती है ,परन्तु इसे वरदान ही मानना चाहिए . वर्षा के बिना देश में हाहाकार मच जाता है . वर्षा के अभाव में न तो अन्न ही मिल सकता है न वस्त्र ही . यह  ऋतु बहुत ही सुहावनी तथा जीवन दायिनी होती है .

एक टिप्पणी भेजें

  1. बेहतरीन जानकारी है। आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  2. वर्षा रुतु सबसे प्यारा रुतु हैं, इसमें सारा जहाँ खुशहाली से जीवन जीता हैं सरे गम धुल जाते हैं.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top