1
Advertisement

साँप और कौवा 
Saanp Aur Kauva

साँप और कौवा Saanp Aur Kauva सांप और कौवा कहानी सांप और कौवे की कहानी कौवा और सांप
साँप और कौवा
साँप और कौवा
वाला कार्टून कौवा और सांप की लड़ाई कौवा और सांप का कहानी कौवा और सांप की कहानियां -
एक कौवा और कौवी दोनों पति - पत्नी मज़े में रहते थे .कौवा अपनी पत्नी का बहुत ख्याल रखता था .दोनों ने मिलकर एक पेड़ पर घोंसला बनाया था .कौवी को बच्चा होने वाला था .दोनों आपस में बात करते थे कि हमारा बच्चा होगा .कहीं सांप उसे खा न जाए .इसके लिए चिंतित थे .समय पूरा होने पर कौवी ने अंडा दिया .साँप को अंडे की खुशबु बहुत जल्द आती है और एक दिन वह अंडा खा गया .इससे दोनों पति पत्नी बहुत दुखी हुए . 

समय बीतता गया और एक दिन कौवी ने कौवे से कहा - मुझे फिर बच्चा होना वाला है .इसीलिए दोनों बहुत चिंतित थे कि कैसे अपने बच्चे को सांप से बचाया जाय .इसी बीच एक दिन वहां की रानी तालाब में नहाने के लिए आई .उसने अपना हार निकालकर किनारे रख दिया .कौवी ने उस हार को अपने चोंच में दबाया और उड़ गयी .तभी रानी के सिपाहियों की नज़र गयी तो वे सभी कौवी के पीछे दौड़े .कुछ देर बाद कौवी ने उस हार को उसी सांप के बिल में छोड़ दिया और उड़कर छिप गयी . 

सिपाही जब साँप के बिल के पास आकर देखे तो उन्हें सांप दिखाई दिया और उसी जगह रानी का हार भी था .तब सिपाही ने सांप को मार डाला और हार ले जाकर रानी को दे दिया .सांप के मर जाने पर दोनों कौवे और कौवी बहुत खुश हुए .समय पर उन्हें बच्चा हुआ .इससे पता चलता है कि बुद्धि से किया गया कार्य सारी समस्या को हल कर देता है . 


कहानी से शिक्षा - 
अन्याय के विरुद्ध संघर्ष करना प्रत्येक धर्मशील प्राणी का कर्तव्य है .



विडियो के रूप में देखें - 

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top