0
Advertisement

प्यारे पापा प्यारे पापा



प्यारे पापा प्यारे पापा,
मेरी आँख के तारे पापा।
             पापा हैं हर बात मानते,
             मन की हैं हर बात जानते।
प्यारे पापा प्यारे पापा
             जिस दिन भी बाजार वो जाते,
             खुरमे, पट्टी लाते पापा।
प्यारे पापा प्यारे पापा,
मेरी आँख के तारे पापा।

             उंगली पकड़कर बचपन खेला,
             मेरे खातिर सब दुख झेला।
             रोते थे बचपन में जब हम,
             चॉकलेट मुझे खिलाते पापा।
प्यारे पापा प्यारे पापा,
मेरी आँख के तारे पापा।

              सुबह रोज टहलाते मुझको,
              दुनिया को बतलाते मुझको,
              शिक्षा की दुनिया मे मेरे,
              पहले शिक्षक मेरे पापा।
प्यारे पापा प्यारे पापा,
मेरी आँख के तारे पापा।




- राघवेन्द्र सिंह 'राघव'
(सीतापुर उ.प्र.)

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top