0
Advertisement

परीक्षा के बाद घर आने के सम्बन्ध में पत्र



१२५ ,विकासनगर ,
लखनऊ - ७५
दिनांकः १६/०१/२०१८

आदरणीय पिता जी ,सादर चरण स्पर्श .आपके आशीर्वाद से मैं सकुशल हूँ .आपका पत्र आज ही मिला है . मैं अर्धवार्षिक परीक्षा के कारण पढाई में अधिक व्यस्त रहा .इसी कारणवश पत्र नहीं लिख पाया . अभी मेरे तीन विषयों की परीक्षा बाकी है . मैंने सभी विषयों की अच्छी पढाई कर रखी थी ,इसीलिए अब तक सभी प्रश्न पत्र अच्छे हुए हैं .मुझे पूरा विश्वास है कि मैं अच्छे नम्बरों से पास होऊंगा . 

पिता जी , शीतऋतू की छुट्टियाँ २५ दिसम्बर से प्रारंभ हो रही हैं . अतः मैं २४ दिसम्बर की शाम की ट्रेन पकड़ घर आ रहा हूँ .माता जी को प्रणाम व राधा को बहुत सारा प्यार . 

आपका आज्ञाकारी
रजनीश सिंह
दिनांकः १६/१२/२०१८


एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top