1
Advertisement

बरगद का पेड़


हरा  भरा  है  प्यारा  बरगद
आश्रय पाकर पक्षी गदगद।
बरगद
बरगद
गहरी  होती  इसकी  छाया
ठंडी  होती  सबकी  काया ।
लंबी  होती  इसकी  शाखा
गर्मी  डाल  न  पाती डाका ।
ताज़ी ये ऑक्सीजन देता
बदले  में  ना  कुछ   लेता ।
सबको अपने पास बुलाता
मीठे मीठे फल चखलाता ।
राष्ट्र  पेड़   बरगद   हमारा
सब जीवों का बना सहारा ।






-अशोक कुमार ढोरिया

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top