0
Advertisement

यात्रा 
Essay on Journey in Hindi Language


यात्रा शब्द का जिक्र आते ही हमारे मन - मस्तिष्क में ट्रेन की सीटी की ध्वनि गूँजने लगती है तो तेज़ गति से गौड़ते हुए गाँवों ,खेतों ,नदियों और पुलों को पीछे छोडती हुई जाती है अथवा हवाई अड्डे से उड़ाने भरते हुए अथवा उतरते हुए हवाई जहाज का ख्याल हमारे मन में आता है जहाँ व्यस्त यात्री अपने अपने बैग और सूटकेस थामे जहाज से शीघ्र उतरते की उधेड़बुन में रहते हैं .आज की दुनिया में यात्रा करना काफी आसान हो गया है क्योंकि परिवहन और संचार के माध्यमों का तेज़ गति से विकास हुआ है . 


मनुष्य की सहज प्रवृत्ति - 

यात्रा
यात्रा
एक समय था जब लोग शांत और कभी कभी तूफानी समुद्र से होकर पानी के जहाज से कई दिनों ही नहीं बल्कि महीनों की यात्राएँ किया करते थे .यदि वे थलमार्ग से यात्रा करते थे उन्हें घोडागाडियो में थकाऊ और लम्बी यात्राएँ करनी पड़ती थी .इसके बावजूद लोग यात्राएँ करते थे क्योंकि यह मनुष्य की सहज प्रवृत्ति है और उसमें दूर - दराज़ के स्थानों को देखने तथा वहां के लोगों को जानने - समझने की लालसा हमेशा बनी रहती है .बहुत से लेखकों ने उन स्थानों के बारे में लिखा है जहाँ की उन्होंने यात्राएँ की थी .जब हम ऐसी किताबें को पढ़ते हैं तो हमारे मन में यात्रा करने की इच्छा और बढ़ जाती है . 


यातायात के साधनों का विकास - 

आज के ज़माने में यातायात के साधनों का खूब विकास हुआ है और हम अपनी यात्रा के लिए अपनी पसंद और क्षमता के अनुसार यातायात का माध्यम चुन सकते हैं . जिन लोगों के कामकाज में यात्राएँ शामिल होती हैं वे हवाई यात्रा को चुनते हैं .हवाई यात्रा किसी भी स्थान पर पहुँचने का सबसे तेज़ साधन है .यह समय की बचत करता है किन्तु इसमें काफी खर्च आता है .किन्तु व्यस्त रहने वाले कार्यपालक भरी खर्च पर ध्यान नहीं देते हैं क्योंकि उन्हें अपना समय बचाना होता है . 

छुट्टियाँ मनाने के लिए यात्राएँ - 

जो लोग छुट्टियाँ मनाने के लिए यात्राएँ करते हैं वे यातायात का अपेक्षाकृत धीमा किन्तु आरामदेह माध्यम ट्रेन का चयन करते हैं .अब कई सुपरफास्ट ट्रेने भी चलती हैं जो तेज़ गति से दौड़ती हैं और आपको अपने गंतव्य तक तेज़ गति से पहुंचा देती हैं .जब हम ट्रेन से यात्रा करते हैं तो अनेक लोगों से हमारा परिचय होता है .हम विभिन्न स्थानों को भी देखते हैं .स्टेशन यात्रियों से भरे होते हैं जो स्टेशन के अन्दर या बाहर आते जाते रहते हैं स्टाल और खोमचेवाले तमाम तरह की वस्तुओं को बेचते हैं जो हमें खरीदने के लिए ललचाती हैं .रात के समय हमें गावों में दीपों की धीमी रौशनी दिखाई देती हैं और अन्धकार में डूबे घने जंगल और खेत अत्यंत सुन्दर दृश्य उपस्थित करते हैं . 

यात्रा की योजना - 

अब हमारे देश में कई स्थान सड़क मार्ग से जुड़ गए हैं .लक्ज़री कोच से यात्रा करना आरामदायक और आनंददायी होता है .सड़कों के किनारों पर होटल और रेस्टोरेंट बने होते हैं जहाँ अच्छा भोजन और गर्म पेय पदार्थ मिलता है .कई बसे वातानुकूलित होती हैं और सीटों भी अत्यंत आरामदायक होती हैं ताकि आप चाहें तो सो भी सकते हैं .यदि यात्रा को सचमुच में सुखद बनाना हैं तो उसके लिए जरुरी हैं कि यात्रा की योजना बनाई जाए और अपनी सीटों अग्रिम तौर पर आरक्षित करा ली जाएँ ताकि यात्रा के दौरान तकलीफ और परेशानियों का सामना न करना पड़े . 


एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top