0
Advertisement

वो कर गए बेवफाई



जब वो कर गए बेवफाई मेरे से मेरे प्यार में .
हम क्या करें यारों जीके इस जालिम संसार में ..

कैसे छोड़ दूं यारों उनके नाम की माला जपना .
वो ही तो हैं मेरे दिल जिगर का सपना ..

हुश्न में उनके चाँद छुपा है ,आँचल में उनकी चांदनी .
मैं कैसे रहूँ यारों अकेला उनसे ,वो तो हैं मेरी रागनी ..
 बेवफाई
 बेवफाई

करके ये दुनिया लाखों सितम न मोहब्बत कम करेंगे .
न हम डरे थे पहले कभी न आज हम डरेंगे ..

क्यों तुम्हारी चाँदनी को खिलने नहीं देते .
क्या है हमारा कसूर कि लोग तुमसे मिलने नहीं देते ..

दिल लेने दिल देने के लिए दिलदार चाहिए .
मैं हूँ प्यार का पुजारी मुझे प्यार चाहिए ..

दिलवर की दिल लगी से मैं परेशान हो गया .
सच कहता हूँ मैं बदनाम हो गया ..

रूठ जाए हमसे हमारा प्यार ये हमें गंवारा नहीं .
उसके सिवा इस दुनिया में अपना कोई सहारा नहीं ..

पहली चाहत पहली मोहब्बत पहला प्यार है .
कसम तेरी जवानी की जानम बस तूही मेरा प्यार है ..

तू आई थी मेरे ख्वाबों में ,वो खुशबू कहाँ गुलाबों में .
जो नशा है तेरी आँखों में ,वो नशा कहाँ शराबों में ..

जाम में क्या है पैगाम में क्या है क्या है बंद बोतल में .
इन सभी से अधिक नशा है मेरी जानम की मोहब्बत में ..

लिखकर ख़त अपने लहू से तेरे नाम करते हैं .
जानम तेरी मोहब्बत को हम दिल से सलाम करते हैं .

लेकर नाम हमारा हमें बदनाम कर गए .
ये भी अच्छा हुआ कि मेरी मुश्किल आसान कर गए .

कर गए घायल मुझे दिल गैरों से लगाकर .
आखिर क्या मिला तुम्हे दिल मेरा जलाकर ..



एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top