2
Advertisement

रक्षा बंधन 


राखी खुशियाँ से भरी ,नेह प्रेम के भाव
भाई को मिलता सदा ,बहिनों का सद्भाव।

सावन मनभावन सदा ,हरियाली सब ओर
रक्षा बंधन
खुशहाली के पर्व पर ,नाचे मन का मोर

रिश्ते दुनिया में कई ,कुछ रिश्ते हैं खास।
बहना का धागा बना ,भाई का विश्वास।

रेशम कि डोरी बंधी ,मन में प्रेम अपार।
भाई से बहना कहे ,तुम हो प्राण अधार।

रेशम के धागे बने ,मन के बंधन आज
माथे पर चन्दन लगा ,बहना करती नाज।

बहिना जब से तू गई ,मन है बड़ा उदास।
राखी संग बंध गया ,हाथों में विश्वास।

भाई सरहद पर लड़े ,रख कर देश की आन।
बहिना की राखी मिली ,बांध कलाई शान।

सूना सूना सा लगे ,बिन बहना के पर्व।
काश बहिन होती यदि ,मैं भी करता गर्व।  



- सुशील शर्मा 

एक टिप्पणी भेजें

  1. शानदार दोहे भाई बहन के अनुपम रिश्तों के साथ राखी का त्योहार।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top