0
Advertisement

मेरा दिल चुराए हुए हैं 



जो हाथों में धड़कन दबाये हुए हैं ,
यही है जो मेरा दिल चुराए हुए हैं .
दिल

दुनियाँ बनाने वाले मेरी भी अरज सुनले , 
मेरा साथ जो कोई हो पर बेवफा नहीं हो .

मोहब्बत ऐसी धड़कन है जो समझाई नहीं जाती , 
लबों तक दिल की बेचैनी कभी लायी नहीं जाती . 

धड़कते दिल की धड़कन को भला कब तक छुपाओगे , 
यह शोला और भड़केगा इसे जितना दबाओगे .

लिखती हूँ जिगर खून से स्याही न समझना ,
मरती हूँ तेरे इश्क में जिन्दा न समझना .

अपने दिलबर की जुदाई सही नहीं जाती , 
हराम मौत न होती तो जहर खा जाती .

तुम आँख से हसीन हो ,तारों में फूल हो , 
फूलों से रूबरू हो बहारों से पूछ लो . 

ख़त लिख चुका हूँ नींद आ रही है 
अब सो रहा क्योंकि तेरी याद सुला रही है . 


एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top