2
Advertisement

पद परिचय
Pad Parichay  in Hindi 


पद परिचय किसे कहते हैं पद परिचय उदाहरण example of pad parichay in hindi pad parichay questions and answers pad parichay exercises with answers pad parichay in sanskrit sangya pad parichay पद परिचय examples पद परिचय संस्कृत पद परिचय के भेद क्रिया का पद परिचय example of pad parichay in hindi pad parichay questions and answers pad parichay exercises with answers pad parichay in sanskrit sangya pad parichay pad parichay hindi grammar pad parichay example - पद परिचय किसे कहते हैं - पद परिचय शब्द का अर्थ यह है कि पद (शब्द ) का परिचय . जिस प्रकार हम किसी व्यक्ति का परिचय कराते समय उसका नाम ,स्थान और काम बताते हैं उसी प्रकार शब्दों का भी परिचय कराया जाता है .शब्दों का व्याकरण की दृष्टि से क्या स्थान है ,यही बताना पद परिचय का कार्य है .

पद परिचय के भेद - 

प्रयोग के आधार पर शब्द आठ प्रकार के होते हैं - संज्ञा ,सर्वनाम ,विशेषण ,क्रिया ,क्रिया विशेषण ,सबंध बोधक ,समुच्चयबोधक ,विस्मयादि बोधक .
भाषा के सारे शब्द इन्ही में से होते हैं .प्रत्येक शब्द का पद परिचय की विधि इस प्रकार है -
  1. संज्ञा का पद परिचय - भेद,लॉन्ग ,वचन ,कारक ,क्रिया या अन्य शब्दों से सम्बन्ध . 
  2. सर्वनाम पद का परिचय - भेद ,पुरुष ,लिंग ,वचन ,कारक ,क्रिया या अन्य शब्दों से सम्बन्ध .किस संज्ञा के स्थान पर आया है . 
  3. विशेषण - भेद, लिंग ,वचन ,अवस्था ,विशेष्य . 
  4. क्रिया - काल , भेद ,लिंग ,वचन ,पुरुष ,सकर्मक या अकर्मक ,वाच्य ,कर्ता ,कर्म .
  5. क्रिया ,विशेष - भेद ,विशेष्य ,क्रिया . 
  6. सम्बन्ध बोधक - भेद, सम्बंधित . 
  7. समुच्चयबोधक - भेद , योजित शब्द . 
  8. विस्मयादि बोधक - भेद . 


पद परिचय उदाहरण example of pad parichay in hindi - 


  1. उदाहरण - मैं गत साल ,उसे अमेरिका में मिला था . 
मैं - सर्वनाम,पुरुषवाचक ,उत्तम पुरुष ,पुलिंग ,एक वचन ,कर्ता कारक , मिला था क्रिया का कर्ता . 
गत - विशेषण ,गुणवाचक विशेषण ,पुलिंग ,एक वचन ,अधिकरण कारक ,. 
साल - संज्ञा ,जातिवाचक ,पुलिंग ,एक वचन ,अधिकरण कारक . 
उसे - सर्वनाम ,पुरुष वाचक ,अन्य पुरुष ,कर्मकारक . 
अमेरिका - संज्ञा ,व्यक्तिवाचक ,पुलिंग ,एक वचन ,अधिकरण कारक . 
मिला था - क्रिया ,भूतकाल ,पुंलिंग ,एक वचन .उत्तम पुरुष ,सकर्मक क्रिया . 


2. लड़के को देखते ही मौसी बोली अरे तू यहाँ कैसे . 

लड़के को - संज्ञा ,जातिवाचक ,पुलिंग ,एक वचन ,कर्मकारक . 
देखते - क्रिया ,सर्वनाम,कर्तृवाच्य. 
ही - क्रिया विशेषण ,रीति वाचक . 
मौसी - संज्ञा ,जातिवाचक ,स्त्रीलिंग ,एक वचन ,अन्य पुरुष ,सकर्मक क्रिया . 
बोली - क्रिया ,भूतकाल ,स्त्रीलिंग ,कर्तृवाच्य, एक वचन ,अन्य पुरुष . 
अरे - विस्मयादि बोधक 
तू - सर्वनाम , पुरुष वाचक ,पुलिंग ,एक वचन ,कर्ता कारक .
यहाँ - क्रिया विशेषण ,स्थान वाचक . 
कैसे - क्रिया विशेषण ,रीतिवाचक . 


एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top