0
Advertisement

अंधविश्वास
Essay on Superstition in Hindi

पिछले रविवार को मेरी चाची घर पर आई थी और दोपहर के बाद पूरा समय उन्होंने हमारे यहाँ ही बिताया . हम उनकी नीरस बातों जिनमें उनकी बिल्ली द्वारा मारे गए चूहों की संख्या जैसे विषय थे से उबते रहे . हम इस इंतज़ार में थे कि वे कब अपने घर जाएँ किन्तु सौजन्यता और शिष्टाचार के नाते हम उन्हें अपने यहाँ से जाने के लिए नहीं कह सकते थे . अंततः उन्होंने स्वयं महसूस किया कि अब उन्हें जाना चाहिए . किन्तु ज्योंही वे जाने के लिए दरवाज़े के पास पहुंची उन्हें जोर से छींक आ गयी . यह कहकर कि छींक का आना अशुभ होता है वे पुनः एक घंटे तक बैठी रही . जब उन्होंने दुबारा जाने का फैसला किया और जाने के लिए निकली तो दरवाज़े के पास उनके सामने काली बिल्ली गुजर गयी .उन्होंने फिर वही दोहराया कि यह अपशकुन का लक्षण है और वे पुनः हमारे यहाँ काफी देर तक बैठी रही .

अंधविश्वास के प्रकार - 

कई लोगों को अनेकों अंधविश्वासों में इतना यकीन होता है कि ऐसा लगता है मानों उसका सारा जीवन ही उससे निर्देशित होता है .कहीं कांच के टूटने का अर्थ सात वर्षों तक अशुभ माना जाता है तो कहीं उबलते समय दूध का उफान कर बहना शुभ माना जाता है .घर के बाहर झाड़ू का दिखाई दे जाना और जब आप जा रहे हो उस समय किसी का पीछे से अवाज देकर बुला लेना अपशकुन माना जाता है .ऐसे सैकड़ों अन्धविश्वास और टोटके हमारे समाज में प्रचलित है .

प्राचीनकाल में अंधविश्वास - 

अंधविश्वास
अंधविश्वास
प्राचीनकाल से कई लोग अंधविश्वास को मानते आये हैं .पुराने समय में शकुन और मुहरत के अनुसार निचित तारीख और समय को युध्य लादे जाते थे .कई लोग तेरह की संख्या को अशुभ मानते हैं और यदि तारीख तेरह और दिन शुक्रवार हो तो उसे और भी बुरा मानते हैं . घर के घोड़े के पैरों की नाल टांगना कई लोग शुभ मानते हैं तो कई लोग उल्लू की चीख को अशुभ मानते हैं .
प्राचीन कहावत  है कि जन संयुक्ता  पृथ्वीराज चौहान के आने और उसे ले जाने की अपेक्षा कर रही थी उस समय उनकी मान्शपेशिया फड़कने  लगे थी .यह अच्छे शकुन का प्रतिक माना गया .

अंधविश्वास को दूर करने के उपाय - 

आधुनिक समय में अन्धिविश्वासों में यकीं रखना पिछड़ेपन की निशानी है .उनके समर्थन में कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है .केवल अंध विश्वास और विवेक की कमी के कारण अंधविश्वासों में यकीन करते हैं .हमारी मान्यताएं या विश्वास तार्किक चिंतन और विचारों से अभिप्रेत होने चाहिए .

अंधविश्वास एक समस्या - 

अंधविश्वास की मान्यताएं दुर्दशा  उत्पन्न कर सकती हैं .उदहारण के लिए यदि विवाह के बाद एक बाद कई दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं घटती हैं तो वधु को अपशकुनी मान लिया जाता हैं . अन्धविश्वास की मान्यताएं हानिरहित हो सकती हैं ,किन्तु जब वे हमारे जीवन को प्रभावित करती हैं और दूसरों को नुकशान या क्षति पहुंचाती हैं तो और भी खतरनाक हो सकती हैं . 

Keywords - 
अंधश्रद्धा निबंध हिंदी अंधविश्वास के प्रकार अंधविश्वास एक समस्या अंधविश्वास क्या है अंधश्रद्धा एक शाप निबंध हिंदी अंधविश्वास का समाज पर असर अंधविश्वास के कारण अंधविश्वास पर दोहे

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top