0
Advertisement

राष्ट्रीय एकता 
Essay on National Unity in Hindi


भारत विधि संस्कृतियों का देश है।यहाँ प्रत्येक क्षेत्र की अपनी अलग भाषा है ,खान - पान और पहनावे की अपनी विशेष पद्धतियाँ और आदतें हैं और लोग अलग - अलग धर्मों के अनुयायी हैं।हर राज्य के रीति - रिवाज
राष्ट्रीय एकता
राष्ट्रीय एकता 
,त्यौहार और जीवन शैलियाँ दूसरे राज्य से भिन्न हैं। इन सबके बावजूद हमारे देश में अनेकता में एकता है।एक पीढ़ी पहले लोग आमतौर पर बड़े ही रूढ़ि वादी होते थे और वे अपनी जीवन शैली ,रीति - रिवाज और शर्म को बदलने के लिए तैयार नहीं होते थे।  हाँलाकिं राष्ट्र के रूप में हम राष्ट्रीय एकता की भावना को प्रोत्साहित करते रहते थे किन्तु इस प्रक्रिया की गति धीमी थी।लोग अंतर्जातीय विवाहों और दूसरों के रीति - रिवाजों को अपनाने में विश्वास नहीं करते थे।  

आधुनिक पीढ़ी - 

आधुनिक पीढ़ी पहले की पीढ़ी तुलना में काफी अलग है।आज का युवा गतिशील ,लचीला और सच्चे अर्थों में आधुनिक है।वह आधुनिक है क्योंकि जाती और वंश के उन संकुचित भेदभावों से वह बिलकुल मुक्त है जो लोगों को बाँट देते हैं।  आज के युवा के लिए धर्म और संपदार्य उतने महत्वपूर्ण नहीं हैं जितने कि उसके माता - पिता अथवा दादा - दादी के लिए हुआ  करते थे।  

भारतीय कहलाने में गर्व - 

पचास वर्षों की आधुनिक शिक्षा और विज्ञान ने सुफल दिए हैं। अब लोग सबसे पहले अपने को भारतीय महसूस करते हैं और सिख या हिन्दू कहलाने से ज्यादा भारतीय कहलाने में गर्व का अनुभव करते हैं।  दृष्टिकोण में आये हुए इस परिवर्तन में कई कारकों या धटकों ने योगदान दिया है।  

गर्व की भावना -

भारत आज एक महत्वपूर्ण राष्ट्र बन गया है।इसने धार्मिक सहनशीलता ,गुट निरपेक्षता और विवेकपूर्ण विदेश नीतियों के जरिये विश्व के मानचित्र  पर अपना अलग स्थान दर्ज़ करा लिया है।भारतीयों ने ज्ञान विज्ञानं के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है और अभिनन्दन अर्जित किया है।भारतीय महिलाओं ने सौंदर्य प्रतियोगिताएं समारोहों में यह सिद्ध कर दिखाया है कि उनके पास सौंदर्य और बुद्धिमत्ता दोनों है।हम खेलों में भी पीछे नहीं है।  इन सभी प्रगति ने आज के युवा के अंदर गर्व की भावना संचारित कर दी है और वह जाति और वंश आदि की संकुचित सीमाओं से मुक्त हो रहा है।  


Keywords - 
राष्ट्रीय एकता पर निबंध Essay on National Unity in Hindi राष्ट्रीय एकता का अर्थ राष्ट्रीय एकता की समस्या राष्ट्रीय एकता में हिंदी का योगदान राष्ट्रीय एकता का महत्व राष्ट्रीय एकता पर कविता राष्ट्रीय एकता क्यों आवश्यक है राष्ट्रीय एकता में हिंदी का महत्व राष्ट्रीय एकता और अखंडता राष्ट्रीय एकता की आवश्यकता राष्ट्रीय एकता की समस्या राष्ट्रीय एकता में हिंदी का योगदान राष्ट्रीय एकता का महत्व राष्ट्रीय एकता पर कविता राष्ट्रीय एकता दिवस राष्ट्रीय एकता क्यों आवश्यक है राष्ट्रीय एकता में हिंदी का महत्व

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top