0
Advertisement

बड़ी सोच का बड़ा जादू The Magic of Thinking Big

बड़ी सोच का बड़ा जादू The Magic of Thinking Big ,डेविड जे. श्वार्टज़ David J. Schwartz द्वारा लिखित एक सेल्फ हेल्प बुक है।इस किताब की 40लाख से अधिक प्रतियाँ बिक चुकी है।लक्ष्य निर्धारित कर तथा सकारात्मक सोच द्वारा हम अपने जीवन में किस प्रकार परिवर्तन कर सकते हैं ,इस किताब में बताया गया है।  बड़ी सोच का बड़ा जादू किताब हमें यह बताती है कि आप अपनी सोच को किस तरह बड़ा कर सकते हैं और सफलता की उंचाईयों को छू सकते हैं।  

बड़ी सोच का बड़ा जादू The Magic of Thinking Big का सार/समरी  - 

डेविड जे. श्वार्टज़ का मानना रहा है कि कोई भी व्यक्ति व्यग्तिगत आत्म सुधार द्वारा अपना जीवन परिवर्तित कर
बड़ी सोच का बड़ा जादू
बड़ी सोच का बड़ा जादू
सकता है।पुस्तक के प्रारंभ में एक सेल्स मीटिंग का उदहारण दिया गया है जिसमें हैरी नाम का सैल्स मन बाकी सभी कर्मचारियों से ज्यादा कमाई करता है। उसी कमाई का कारण उसकी सोच का आकार है।वह बड़ा सोचता है।  इसी तरह किसी इंसान की सोच के आकार पर ही उसके बैंक अकाउंट ,सुखी जीवन तथा आत्म -संतुष्टि ,व्यक्ति के विचार पर ही निर्भर करता है।  महान लोग वे होते हैं जो यह देख सकते हैं कि विचार ही दुनियाँ पर राज करते हैं। आपका दिमाग ही किसी बात को स्वर्ग या नरक बना सकते हैं।
लेखक का मानना है कि यदि आप विश्वास करते हैं कि आप सफल हो सकते हैं तो आप अवश्य सफल हो जाएँगे। हर व्यक्ति चाहता है कि वह अपनी औसत जिंदगी त्यागकर बेहतर जीवन जिए।  इस प्रकार जीवन जिएं के लिए हमें विश्वास से कर्म लेना चाहिए।  विश्वास ही हमें शक्ति ,योग्यता और ऊर्जा देता है कि आप कोई भी काम कर सकते हैं।  कुछ भी कर सकते हैं।  यदि आप अपना रवैया यह रखते है कि आप चोटी पर पहुँच कर दिखाएँगे तो आप अवश्य पहुँचेंगे। जिस आदमी को यह विश्वास होता है कि वह यह काम कर लेगा ,उसे हमेशा उस काम को करने का तरीका सूझ जाता है।  लेखक ने कई उदाहरण देकर अपनी बात की पुष्टि की है।  हम अपने जीवन में कामयाबी न पाने के कारण कई तरह के बहाने बनाते हैं जिसमें ख़राब सेहत ,कम उम्र या ज्यादा उम्र ,कम बुद्धि और बुरी किस्मत का बहाना बनाते हैं।  लेखक ने इसे बहानासाइटिस की बीमारी का नाम दिया है।  इस इलाज को दूर करने के लिए लेखक ने कई तरह के बेहतर टिप्स दिए हैं।  

डेविड जे. श्वार्टज़ का कहना है कि कार्य करने से डर दूर होता है।अपने डर को दूर को पहचाने  रचनात्मक कार्य करें।  अपने दिमाग को केवल सकारात्मक विचार ही जमा करने की कोशिश करे।  नकारात्मक। खुद की नीच दिखने वाले विचारों को मानसिक राक्षस न बनने दें।अप्रिय घटनाओं या परिशतितयों को याद करने की आदत छोड़ दें।  अपने जीवन को लक्ष्य केंद्रित बनायें और जीवन में सफलता प्राप्त करे।  
लेखक ने पुस्तक को १३ अध्यायों में बाटा है जिनमें कुछ प्रमुख अध्याय है - 

  • विश्वास करें कि आप सफल हो सकते हैं और हो जाएँगे।  
  • बहानासाइटिस का इलाज़ करें।  
  • बड़ा कैसे सोचे। 
  • अपने मौहाल को सुधारें,फर्स्ट क्लास बने।  
  • लक्ष्य बनाएँ ,सफल बने।  



डेविड जे. श्वार्टज़ लेखक के बारे में - 

डेविड जे. श्वार्टज़ एक अमेरिकी प्रेरक वक्त व ट्रेनर है।  वे अपनी महान पुस्तक बड़ी सोच का बड़ा जादू के लिए
डेविड जे. श्वार्टज़
डेविड जे. श्वार्टज़
जाने जाते हैं। आप जार्जिया स्टेट विश्वविद्यालय में प्रोफेस्सर थे।  उन्होंने दुनियां भर के लोगों को अपनी प्रेरणा दायी भाषणों द्वारा बदला है।  सकारात्मक सच से प्रेरित आम आदमी भी महत्वपूर्ण लक्ष्यों को प्राप्त किया है। इन्होने क्रिएटिव एजुकेशनल सर्विसेज इंक Creative Educational Services Inc के नाम से एक फर्म की स्थापना भी की थी।  


बड़ी सोच का बड़ा जादू The Magic of Thinking Big क्यों पढ़ें  -  

बड़ी सोच का बड़ा जादू को  पढ़कर लाखों करोड़ों लोगों ने अपनी जीवन को बदला है।  आप यह सीख सकते हैं कि बेहतर नौकरी और ज्यादा पैसा कैसे कमाया जाता है।  यह बहुत ही प्रैक्टिकल सोच द्वारा महान सफलता हासिल करने के तरीके सिखाती है।  आप जल्द ही पुस्तक में बताये गए तरीके को पढ़कर अपनी मंजिल ,खुशहाल परिवाररिक व सामाजिक जीवन प्राप्त कर सकते हैं।  

बड़ी सोच का बड़ा जादू The Magic of Thinking Big कहाँ से खरीदे - 

बड़ी सोच का बड़ा जादू किताब The Magic of Thinking Big का हिंदी अनुवाद है।  इसे मंजुल प्रकाशन द्वारा हिंदी में डॉ.सुधीर दीक्षित जी द्वारा अनुवाद किया गया है।आप इसे  amazon.in  द्वारा घर बैठे मँगा सकते हैं।  नीचे पुस्तक का लिंक दिया है ,आप यहाँ से पुस्तक का आर्डर कर सकते हैं - 






एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top