1
Advertisement

रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad


रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad रॉबर्ट कियोसाकी जी Robert Kiyosaki द्वारा लिखित एक सेल्फ हेल्प व व्यक्तिगत वित्तीय प्रबंधन की पुस्तक है।इस किताब में अपने वित्तीय शिक्षा ,वित्तीय स्वाधीनता तथा निवेश द्वारा किसी प्रकार अपना व्यापार ,अपनी वित्तीय बुद्धि सुधार आदि बातों को  बताया गया है।यह किताब एक मिथकीय उपन्यास के रूप में लिखा गया है, जिनमें रिच डैड और पुअर डैड की कहानी लिखी गयी हैं।

रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad का सार/समरी 

रिच डैड पुअर डैड
रिच डैड पुअर डैड
जैसा की किताब के कवर पेज पर ही लिखा गया है कि रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad के बारे ,अमीर लोग अपने बच्चों को ऐसा क्या सिखाते है जो गरीब और माध्यम वर्ग में माता - पिता नहीं सिखाते। इसका अर्थ यह है कि इस किताब में यह अमीर बनने के बारे में बताया गया है। चूहा दौड़ ,जिसमें आम आदमी दौड़ा करता है। .चूहा दौड़ का अर्थ अपनी वित्तीय स्वतंत्रा को प्राप्त करने का उपाय।हम नौकरी पाना चाहते हैं।  नौकरी द्वारा इतना ही आय प्राप्त हो सकती है ,जितना कि हम अपना जीवन व्यतीत कर सके।  इसके बाद आय पर सरकार टैक्स लगाती है।
रोबर्ट कियोसाकी को अपने बचपन में दो पिताओं की शिक्षा मिली।  रोबर्ट का डैडी एक पढ़े लिखे विश्वविद्यालय के प्रोफेस्सर थे लेकिन अपनी आमदनी को सही ढंग से प्रबंधन नहीं कर पाते थे।  वहीँ दूसरी तरफ रिच डैड जो कि लेखक के प्रिय मित्र माइक के पिता थे ,कम पढ़े - लिखे थे ,उनकी गणना हवाई राज्य के अमीरों में होती थी।  इसका कारण लेखक ने रिच डैड की वित्तीय साक्षरता को दी है।  अतः लेखक का कहना है कि गरीब और मध्यवर्गीय लोग पैसे के लिए काम करते हैं ,जबकि अमीरों के लिए पैसा काम करता है।गरीब आदमी नौकरी की सुरक्षा ,प्रमोशन और पेंशन के लिए काम करते।ज्यादा पैसा कमाने के लिए वे लोग ज्यादा मेहनत को ही प्राथमिकता देते हैं।इस प्रकार उसके अंदर असुरक्षा की भावना रहती है ,जबकि अमीर काम सीखने के लिए काम करते हैं ,काम सीखने के बाद पैसा अपने आप आता है।  नए - नए तारीके खोजते रहते है।

रॉबर्ट कियोसाकी का मानना रहा है कि बच्चों को विद्यालयों को वित्तीय साक्षरता का पाठ पढ़ाया जाना चाहिए।  उसे आज के सूचना युग के लिए तैयार करना चाहिए ,न की औद्यगिक युग की तरह स्कूल जाओ ,अच्छे नंबरों से पास हो और दायित्व में फर्क नहीं समझता है।  यही कारण है कि वह घर को अपनी सबसे बड़ी पूँजी समझता है ,जबकि वही पर उसके जेब से सबसे ज्यादा पैसा निकलता है।लेखक का मानना है कि संपत्ति वह है , जो आपके जेब से पैसा लाय न की आपके जेब से पैसा निकाले।अतः संपत्ति और दायित्व के अंतर को समझना चाहिए।  लोगों को अपने जीवन में पैसिव इनकम पर ध्यान देना चाहिए ,जिसमें व्यापार ,स्टॉक ,बॉन्ड ,म्यूच्यूअल फंड्स ,रियल स्टेट ,नोट्स ,बौद्धिक सम्पदा पर स्थान देना चाहिए ,जिससे आपकी जेब में पैसा आए।
लेखक ने मैक्डोनाल्ड के मालिक रे क्रॉक का उदाहरण दिया है जिन्होंने M.B.A के विद्यार्थियों को अपनी वास्तव व्यवसाय हैम बर्गर बेचना नहीं ,बल्कि रियल स्टेट बताया है।रे का व्यापार प्लान फ्रेंचाइजी बेचना था ,जिसमें वे फ्रेंचाइजी की लोकेशन द्वारा रियल स्टेट का व्यापार करते थे।
लेखक का कहना है कि लोगों को एक साल तक बिक्री की कला सीखनी चाहिए।भले ही इससे कुछ कमाई न हो ,लेकिन इससे कम्यूनिकेश स्किल्स सुधार होगी।
लेखक सैद्धांतिक एवं व्यवहारिक दोनों बातों को सिखाया है।कुछ बुरी आदतों से बचने की सलाह दी है ,जिनमें डर ,सनकीपन ,आलस्य ,बुरी आदतें ,जिद आदि है।व्यवसाय और निवेश सीखा जा सकता है ,केवल नौकरी की सुरक्षा से ही ग्रसित नहीं रहना चाहिए।अपने सीखने की गुणवत्ता में भी सुधार करना चाहिए ,तभी हम वित्तीय स्वाधीनता की ओर बढ़ पाएँगे।

रॉबर्ट कियोसाकी ने रिच डैड पुअर डैड पुस्तक को १० अध्यायों में बाँटा है।जिनमें प्रमुख है -
  • अमीर लोग पैसे के लिए काम नहीं करते हैं।  
  • पैसे की समझ क्यों सिखाई जानी चाहिए।  
  • अमीर लोग पैसे का आविष्कार करते हैं।  
  • सीखने के लिए काम करें - पैसे के काम न करें।  
  • शुरुवात करना 


रॉबर्ट कियोसाकी
रॉबर्ट कियोसाकी

रॉबर्ट कियोसाकी Robert Kiyosaki के बारे में - 

रॉबर्ट कियोसाकी ,हवाई में पले - बढ़े  जापानी अमरीकी है।  उनके पिता हवाई राज्य में शिक्षा प्रमुख थे।रोबर्ट की शिक्षा न्यूयोर्क में हुई और गरजतिओं के बाद यू। एस मरीन कॉर्पस में शामिल होकर एक ऑफिसर और हेलीकाप्टर गनशिप पायलट के रूप में वियतनाम पहुँच गए।  वापस आने पर रोबर्ट का बिजनेस करियर शुरू हुआ।  १९७७ में उन्होंने कंपनी स्थापित की जिसमें उन्होंने करोड़ों डॉलर का विश्वव्यापी उत्पाद बनाया।  १९८५ में आपने व्यसाय जगत को छोड़कर एक अंतर्राष्ट्रीय शैक्षणिक कंपनी की स्थापना की ,जो लोगों को व्यसाय और निवेश के गुण सीखा रही।१९९७ में प्रकाशित रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad पुस्तक ,न्यूयोर्क टाइम्स की बेस्ट सेलर हुई।  आज इनकी अनेक पुस्तकें व्यसाय और निवेश के सम्बन्ध के बाजार में उपलब्ध है।  

रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad क्यों खरीदें - 

रिच डैड पुअर डैड पुस्तक रॉबर्ट कियोसाकी द्वारा लिखित विश्व प्रसिद्ध पुस्तक है।उन्होंने दुनिया भर लोगों की पैसों के बारे में सोच को बदला है. माता - पिता ,अपने बच्चों को स्कूल भेजते हैं ,लेकिन स्कूल में कई साल गुजारने  भी वित्तीय साक्षरता नहीं दी जाती है।उन्हें सिर्फ नौकरी की सुरक्षा का पाठ पढ़ाया जाता है ,लेकिन पैसों को अपने लिए काम करवाया नहीं सिखाया जाता है।अतः व्यापार और निवेश के गुणो को विकसित करने के लिए आपको यह पुस्तक आपको अवश्य पढ़नी चाहिए। इससे आपको बाजार की और पैसे की व्यावहारिक समझ मिलेगी ,जिससे आपका आर्थिक जीवन बदल सकता है।  

रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad कहाँ से ख़रीदे - 

रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad पुस्तक अंग्रेजी भाषा में लिखी गयी है।जिसे हिंदी में मंजुल प्रकाशन द्वारा उपलब्ध कराया गया है।जिसका हिंदी अनुवाद डॉ.सुधीर दीक्षित जी द्वारा किया गया है।आप अमेज़ॉन द्वारा घर बैठे - बैठे इस पुस्तक को प्राप्त कर सकते हैं।  पुस्तक खरीदने का लिंक नीचे दिया गया है।





Keywords - 
रिच डैड पुअर डैड Rich Dad Poor Dad रॉबर्ट कियोसाकी जी Robert Kiyosaki रिच डैड पुअर डैड इन हिंदी pdf रिच डैड पुअर डैड इन हिंदी पीडीऍफ़ रिच डैड पुअर डैड pdf rich dad poor dad in hindi pdf रिच डैड पुअर डैड इन हिंदी रीड ऑनलाइन रॉबर्ट कियोसाकी रिच डैड पुअर डैड शैलियां रिच डैड पुअर डैड बुक रिच डैड पुअर डैड इन हिंदी पीडीऍफ़ रिच डैड पुअर डैड पीडीएफ रिच डैड पुअर डैड pdf रिच डैड पुअर डैड इन हिंदी रीड ऑनलाइन रिच डैड पुअर डैड इन हिंदी pdf रिच डैड पुअर डैड स्टोरी इन हिंदी पीडीएफ rich dad poor dad in hindi pdf

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top