0
Advertisement

मच्छरों के प्रकोप के लिए पत्र
Letter format to the Municipality to drive away mosquitoes from your area


सेवा में ,
स्वास्थ्य अधिकारी महोदय ,
नगर निगम , इलाहाबाद।

महोदय ,
मैंने अपने इस पत्र के माध्यम से आपका ध्यान अपने इलाके की तरफ आकृष्ट करना चाहता हूँ जहाँ मच्छरों के प्रकोप से साधारण लोगों का जीवन दूभर हो गया है।शाम को फुट पाठ पर दुकान लगाने वाले गरीब दुकानदार इनके प्रकोप से न तो अपना सामान बेच पाते हैं और न ही कोई खरीददार दुकानों पर खड़ा होकर समान खरीदने को ही हिम्मत जुटा  पाटा है।ठेला मज़दूर ,मोटिया मज़दूर आदि इनके भय से काम करने से कतराते हैं।
सायकिल चालकों या गाड़ी चालकों की आखों में पढ़कर ये दुर्घटनाओं को निमंत्रित करते हैं. रात को गली और फुटपाथ पर सोने वालों की तो देश सबसे दयनीय है।दिन भर कठोर परिश्रम करने वाले ये लोग रतजगा में ही बिताने के लिए बाध्य है।इन मछरों के प्रकोप से तरह तरह के रोग फ़ैल रहे हैं।मलेरियां रोगियों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है।सबसे दुःख की बात यह है कि न तो नगर निगम के कर्म चारियों का ध्यान इस तरफ है और न सफाई कर्मचारियों का ही उचित सहयोग क्षेत्र की जनता को मिल रहा है।जगह - जगह कूड़े के अम्बार पड़े हुए हैं।जल निकासी की समुचित व्यवस्था भी नहीं है।  नालियों में छिड़की जाने वाली दवाओं का छिड़काव तो संभवतः महीनों से नहीं हुआ है।  नगर निगम के इस मोहल्ले के लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा का भार भी आप के ऊपर है।

अतः आपसे अनुरोध है कि आप इस क्षेत्र की जनता की पुकार पर ध्यान देने की तुरंत कृपा करें और इस पत्र के पाते ही आप स्वयं आकर इस क्षेत्र की दुर्दशा का अवलोकन अपने आँखों से आकरके यहाँ की जनता के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए अविलम्ब कदम उठाने की महती कृपा करें।

सधन्यवाद

भवदीय
राजेश सिंह
विकास नगर ,
इलाहाबाद
दिनांक - १३/१२/२०१७ 

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top