0
Advertisement

रेलवे कर्मचारी के अभद्र व्यवहार के पत्र 
Indecent behaviour of Railway staff


सेवा में , 
प्रभाग अधीक्षक ,
उत्तर रेलवे,
इलाहाबाद - ११ 

विषय - रेलवे कर्मचारी के अभद्र व्यवहार के सम्बन्ध में।  


महोदय , 
आपको सूचित करना चाहता हूँ कि गत ११ दिसम्बर को मैं इलाहाबाद से फैज़ाबाद से चलने वाली साकेत एक्सप्रेस से फैज़ाबाद जा रहा था।  मुझे बड़े खेद के साथ बताना पड़ रहा  है कि मार्ग में एक रेलवेज कर्मचारी ने मेरे साथ  अत्यंत ख़राब व्यवहार किया। उस कर्मचारी का नाम  विकास यादव और उसका नंबर TTE टी.टी.आई - ५२०  है।मैं ११ दिसम्बर को दोपहर इलाहबाद रेलवेज स्टेशन से साकेत एक्सप्रेस  पर चढ़ा। मेरे साथ मेरी पत्नी और मेरे दो बच्चे थे।मैंने अपनी ,अपनी पत्नी और एक बच्चे की टिकट ले राखी थी। चूँकि मेरा छोटा बच्चा अभी तीन वर्ष का नहीं था। इसीलिए मैंने उसकी टिकट नहीं बनवायी थी।  

गाडी जब आगे बड़ी तो युक्त टिकट निरीक्षक ने प्रवेश किया।  मुझसे जब टिकट माँगे गए तो मैंने सब टिकट दिखा दिए।  उसने जब मेरे छोटे बच्चे का टिकट माँगा तो मैंने बता दिया कि वह अभी तीन साल का ही नहीं हुआ है।  इस आधार पर उसने मुझे झूठा बताकर डिब्बे में बैठे सभी यात्रियों के सामने अपमानित किया।  इतने पर भी मैंने उसका  आधा टिकट लेने को तैयार हो गया लेकिन वह मुझे तो जुर्माने की रकम तथा टिकट के पैसे वसूल करना चाह रहा था।  जब मैंने उसे इंकार कर दिया तो उसने मुझे जेल में भेजने की धमकी भी थी।  इस पत्र के साथ मैंने आपको प्रमाण के लिए अपने बेटे का जन्म तारीख प्रमाण पत्र भेज रहा हूँ।  आप कृपया उससे इस बात का स्पष्टीकरण माँगे कि उसने ऐसा अभद्र व्यवहार क्यों किया ?

मेरा आपसे अनुरोध है कि मेरे इस पत्र पर आप ग़ौर करें तथा मुझे सूचित करने का कष्ट करें कि आपने इस संदर्भ में क्या कदम उठाये हैं।  

सधन्यवाद 

भवदीय 
रजनीश सिंह 
१२५, विकास नगर , 
इलाहाबाद - ७५ 
दिनांक - १५/१२/२०१७ 

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top