0
Advertisement

क्रिसमस Christmas

पर्व त्यौहार हमारे जीवन के वसंत हैं।  वे हमारे दैनिक जीवन में आकर्षण और रंग लाते हैं ,जीवन को नयी ताज़गी और उमंग प्रदान करते हैं। वे हमारे जीवन की एकरसता को तोड़ते हैं।यही कारण है कि लोग त्यौहारों की आतुरता से प्रतीक्षा करते हैं और विभिन्न को मनाने में खूब धन और समय खर्च करते हैं।भारत विभिन्न धर्मों ,सांस्कृत्यों और जातियों का देश है तथा हरेक के अपने अगल प्रकार के त्यौहार है।  होली , दशहरा ,दीपावली , शिवरात्रि , ईस्टर ,क्रिसमस , ईद ,मुहर्रम आदि भारत के प्रमुख त्यौहार हैं।  इसमें इसे क्रिसमस मुझे बहुत अच्छा लगता है।यह विश्व के सबसे आनंददायी उत्सवों में से एक है।  

ईसा मसीह का जन्म दिवस - 

क्रिसमस
क्रिसमस
सामान्य तौर पर क्रिसमस का पर्व पूरे विश्व में २५ दिसंबर को मनाया जाता है।यह पर्व ईसा मसीह के जन्म के स्मरण में मनाया जाता है ,जिन्हे दुनियाँ का मुक्तिदाता और उद्धारक माना जाता है।ईसाई मानते हैं कि ईसा मसीह का जन्म इजराइल में बेथलेहम में लगभग दो हज़ार वर्ष पर्व एक गौशाला में हुआ था. इस दिन उस घटना का स्मरण किया जाता है।ईसाई लोग बेथलेहम गौशाला की स्मृति में क्रिसमस खटोले बनाते हैं और उसे क्रिसमस वृक्षों दीपों और सितारों से सजाते हैं।

शुभकामना पत्र - 

क्रिसमस का एक महत्वपूर्ण पहलू  है शुभकामनाएँ और बधाईयां, जो मित्रों ,रिश्तेदारों और शुभचिन्तकों  को भेजी जाती है।क्रिसमस कार्ड अब इतने सार्वभौम हो गए हैं कि आज सभी धर्मों और जातियों के लोग अपने मित्रों और रिश्तेदारों को क्रिसमस के कार्ड भेजते हैं।  किसी भी अन्य त्यौहार में यह प्रवृति इतनी व्यापकता से नहीं पायी जाती है।  इस प्रकार से यह विश्व के सभी लोगों का पर्व है।  इस दिन शुभकमानाओं का आदान - प्रदान करते हैं और खाद्य पदार्थों को बाँटते हैं।  

सांता क्लॉज़ - 

क्रिसमस सांता क्लॉज़ और क्रिसमस आनंद गान क्रिसमस पर्व का एक और रोचक पहलू  है।दोनों ही आज के समय में मनाये जाने वाले क्रिसमस पर्वों के अभिन्न भाग बन गए हैं। हालाकिं दोनों का धार्मिक महत्व नहीं हैं। बच्चों की मान्यता या विश्वास है कि इस दिन क्रिसमस सांता क्लॉज़ नाम का एक बूढ़ा व्यक्ति रात के गहन अन्धकार में घूमता है और जब वे नींद में होते हैं वह उनके मनपसंद उपहार उनके पास रखकर चला जाता है। इसीलिए बच्चे इस पर्व के आगमन की अतुरता से प्रतीक्षा करते हैं।  
इसके साथ ही क्रिसमस के आनंदगान भी अत्यंत महत्वपूर्ण है।बिना क्रिसमस आनंदगान के क्रिसमस का त्यौहार अधूरा माना जाता है।  वास्तविक क्रिसमस पर्व के कई दिन पहले से विशेष रूप से युवा लोग घर घर जाते है ,क्रिसमस आनंदगान गाते है।ये गीत ईसा मसीह के जन्म की कहानी से सम्बंधित होते हैं।  

क्रिसमस का संदेश - 

इस प्रकार से क्रिसमस आनंद या ख़ुशी का त्यौहार है।इस अवसर पर ईसाई लोग मित्रों और निकट सम्बन्धियों के साथ मिल बाँट कर भोजन करते हैं।  यह लोगों को आपस में जोड़ता है।  आज की दुनिया को धर्म ,जाति और युध्य से घिरी हुई है ,यह पर्व घाओं को भरने ,लोगों को एक दूसरे के करीब लाने और शांति तथा सौहार्द की दुनिया स्थापित करने में सहायता कर सकता है।  यही कारण है कि अनेकों लोग इस त्यौहार को पसंद करते हैं और यही वजह है कि यह त्यौहार मेरा पसंदीदा त्यौहार है।  


Keywords - 
क्रिसमस क्यों मनाया जाता है
क्रिसमस का महत्व
क्रिसमस पर कविता
क्रिसमस डे
क्रिसमस पर निबंध english
christmas essay in english
क्रिसमस क्यों मनाया जाता है
क्रिसमस का महत्व
क्रिसमस का त्योहार
क्रिसमस पर कविता
क्रिसमस डे
how christmas is celebrated in hindi
क्रिसमस ट्री
यही कारण है कि हम क्रिसमस मनाने

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top