0
Advertisement

अपनी भूल के लिए क्षमा मांगते हुए अपने पिताजी को पत्र 
An Apology Letter from Son to Father in Hindi


१३५ विकासनगर
नयी दिल्ली - ७५
दिनांकः ३०/०९/२०१७

आदरणीय पिता जी ,
सदर चरण स्पर्श
पिता जी ,मुझे पता है कि माता जी के द्वारा आपको मेरे दुर्व्यवहार के बिषय में पता चला है . मैं ह्रदय से आपसे भूल स्वीकार करता हूँ . मुझे क्षमा कर दीजिये ,मैं अपने किये पर बहुत शर्मिंदा हूँ . मैं गलत दोस्तों की संगत में पड़कर घर के प्रति अपनी जिम्मेदारी को भुला बैठा , यह सु कर आपको निश्चय ही दुःख हुआ होगा ,क्योंकि आपको मुझसे काफी आशाएँ हैं .
मैं विश्वास दिलाता हूँ कि भविष्य  में ऐसी भूल फिर कभी नहीं होगी .मैं अपनी सभी जिम्मेदारियों को पूरी निष्ठा व ईमानदारी से निभाऊंगा और एक आदर्श पुत्र बन कर दिखाऊंगा .

आपका आज्ञाकारी पुत्र
रविश कुमार

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top