0
Advertisement

स्वतंत्रता के सत्तरवां साल में

"जननी जन्म भूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी" भारत में जन्म लेने के लिए स्वयं देवता भी तरसते हैं| 
हमारे देश का इतिहास बहुत बड़ा और पुराना है |
आजादी क्या है - 
अपनी इच्छानुसार कार्य करने पर किसी दूसरे व्यक्ति, समाज, देश का किसी प्रकार का प्रतिबंध या मनाही नहीं होती यह ही आजादी है | आजादी मनुष्य के लिए ही नहीं, बल्कि सभी पशु, पक्षियों को भी पसंद है, प्राण है|
स्वाधीनता हर मनुष्य का जन्मसिध्द अधिकार है | इसको पाने के लिए यदि मनुष्य को लड़ना भी पड़े, तो सदैव तत्पर रहना चाहिए| पराधीनता वह अभिशाप है, जो मनुष्य के आचार, व्यवहार, उसके परिवेश, समाज, मातृभूमि और देश को गुलाम बना देता है| भारत ने बहुत लम्बे समय तक गुलामी के शाप को सहा है|
भारत का स्वतंत्रता दिवस एतिहासिक महत्त्व रखता है, क्योंकि इस दिन हम राजनीतिक तौर पर आजाद हुए और हमारे दिल और दिमाग में राष्ट्रीयता का विचार पैदा हुआ | अगर एसे न होता तो हम अपनी जाती, समुदाय व धर्म आदि के आधार पर ही छोटे रह जाते हालांकि भारतीय होने का यह गौरव केवल एक भौगोलिक सीमा के ऊपर खड़ा था|  
स्वतंत्रता के बाद भारत
स्वतंत्रता प्राप्त के बाद भारत ने कई क्षेत्रों में विकास किया है| दुनिया का सबसे कम लागत वाला सुपरकंप्यूटर भारत ने ही तैयार किया स्वतंत्रता के बाद से भारत अपने शिक्षा के क्षेत्र में लगातर विकास कर रहा है | हमारे देश में लड़कों की तरह लड़कियों भी आज पड़ती है| सब से अव्वल आती है|
भारतीय इतिहास में महिलाओं की शक्ति स्वतंत्रता के बाद बढ़ रही है| सभी क्षेत्र में महिलाओं काम करती हैं| राजनैतिक में भी अपना सहयोग देती हैं|
मतदान का अधिकार किसी भी देश में नहीं है, केवल हमारे देश में ही है|
1975 में भारत ने पहले अंतरिक्ष उपग्रह का डिजाइन तैयार किया था| इसके बाद हम खुद ही उपग्रह तैयार करते हैं | वैज्ञानिक क्षेत्र में भी आगे बढ रहे हैं|
धर्मों और संस्कृतियों की एसी विविधता के बावजूद भी हम एक राष्ट्र है      हमारे देश में विविध तरह के धर्म, जाती होने पर भी हमेशा हमारे मन में    एकता का भाव ही निरंतर रहता है | इसके कारण हम सभी लोग एक परिवार जैसे मिल जुलकर रहते हैं|
विश्व का सबसे बड़ा दुपहिया वाहनों का उत्पादक हमारा भारत ही है| भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध और मक्खन उत्पादक भी है|
भारतीय सशस्त्र बल में भी दुनिया में आज भारत चार बड़ी सैन्य शक्तियों में से एक है|
हमारा कर्तव्य
हमारे देश को आजादी आसानी से नहीं मिली| हमारे नेताओं को काँटों के रह पर चलना पड़ा| ऐसे मिली आजादी का महत्वपूर्ण बनाकर रखना हमारा कर्तव्य है| ऐसा कार्य करें, जिससे देश का नाम विश्व में रोशन हो| देश की प्रगति के साधक बने न कि बाधक| 
घूस, जमाखोरी, कालाबाजारी को देश से समाप्त करें| भारत के नागरिक होने के नाते स्वतंत्रता का न तो स्वयं दुरूपयोग करें और न दूसरों को करने दें| एकता की भावना से रहे और अलगाव, आंतरिक कलह से बचें| हमारे लिए स्वतंत्रता दिवस का बड़ा महत्व है| हमें अच्छे कार्य करना है और देश को आगे बढ़ाना है|
भारत का असली व पूरा गौरव, इसकी सीमाओं में नहीं, बल्कि इसकी संस्कृति, आध्यात्मिक मूल्यों तथा सार्व भौमिकता में है| हम अपने देश की सेवा कई प्रकार से कर सकते हैं| यह आवश्यक नहीं है कि हर कोई सैनिक बने और लड़ाई में जाय|
इसके लिए तन मन-धन से भी हम सेवा कर सकते हैं 
     सारे जहाँ से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा |
     हम बुलबुले हैं इसकी, यह गुलसितां हमारा ||
जय हिंद |                        भारत माता की जय |

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top