1
Advertisement

कैसे हो गजानन ?

कैसे हो गजानन अबकी साल।
भारत में तो मचा है धमाल।

जी एस टी से व्यापारी हैं बेहाल।
दलालों की नही गल रही है दाल।
जमाखोरों का हुआ जीना मुहाल।
गजानन
गजानन
औरतों के कट रहे चोटियों के बाल।
राम रहीम पर पड़ा सीबीआई का जाल।
कैसे हो गजानन अबकी साल।
भारत में तो मचा है धमाल।

पाकिस्तान कर रहा हरदम घात।
चीनी चाउमीन से न बन रही बात।
भारत से खा कर हरदम मात।
दोनों घुड़क रहे दिन और रात।
डोकलाम में मचा बबाल।
चीनी चूहे करें सवाल।
कैसे हो गजानन अबकी साल।
भारत में तो मचा है धमाल।

तीन तलाक अब हुआ खलास।
मुस्लिम बहिनें हुईं पलास।
बेरोजगारी की दर है खास।
पप्पू अभी नही हुआ है पास।
टमाटर दहक कर हुआ है लाल।
प्याज सिमट कर हुई बेहाल।
कैसे हो गजानन अबकी साल।
भारत में तो मचा है धमाल।

अन्नदाता खा रहा है गोली।
 रोटी इठला कर बोली।
नेट है सस्ता महंगी गोली।
मस्त है मजदूरों की टोली।
दिन में काम का नहीं मलाल।
मोबाइल से रोटी का सवाल।
कैसे हो गजानन अबकी साल।
भारत में तो मचा है धमाल।

इस बार गजानन कुछ कर जाना।
ऑक्सीजन के सिलेंडर भर जाना।
बंद हो जाये बच्चों का मर जाना ।
विश्वास से सब मन भर जाना।
भारत में सब हों खुशहाल ।
जीवन में सब हों मालामाल।
कैसे हो गजानन अबकी साल।
भारत में तो मचा है धमाल।

- सुशील शर्मा

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top