2
विश्व तम्बाखू निषेध दिवस
विश्व तम्बाखू निषेध दिवस

 विश्व तम्बाखू निषेध दिवस   दोहे 🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸 तम्बाखू मुंह मे रखें, आती मौत करीब। अपने पीछे छूटते, बनते लोग गरीब। 🌸🌸🌸🌸...

और जानिएं »

0
प्यार का नशा
प्यार का नशा

प्यार का नशा प्यार का नशा, दिलदार का नशा मदहोश हो गये हैं, हमें होश में न ला। प्यार का नशा..............................। तन्ह...

और जानिएं »

0
बेरोजगार का दर्द
बेरोजगार का दर्द

बेरोजगार का दर्द बेरोजगारी की भैया पडी है ऐसी मार आज पढा लिखा आदमी बैठा है बेकार डिग्रियाँ और उपलब्धियाँ नौकरी की मुहताज हैं नौक...

और जानिएं »

3
सपना
सपना

सपना                                                       जब कमलपुर गाँव में बस रुकी तो काव्या ने गाँव में कदम रखा तो वह अन्दर ही अन्...

और जानिएं »

0
मै ही कहती हूँ
मै ही कहती हूँ

मै ही कहती हूँ इस दफा तुम्हारे ज़ाहिर करने से पहले साधना लो..  मै ही कहती हूँ जो सच का झुठ से , झुठ का सच से राजदारी है | तुम भी ख...

और जानिएं »

0
रवीन्द्रनाथ टैगोर
रवीन्द्रनाथ टैगोर

रवीन्द्रनाथ टैगोर रवीन्द्रनाथ टैगोर माँ भारती के वरद पुत्र ,कविगुरु रवीन्द्रनाथ टैगोर का जन्म ७ मई ,१८६१ ई. में कलकत्ता के जोड़ासांकू...

और जानिएं »

0
गृह प्रवेश के अवसर पर निमंत्रण पत्र
गृह प्रवेश के अवसर पर निमंत्रण पत्र

गृह प्रवेश के अवसर पर निमंत्रण पत्र House Warming Party Invitation Letter ७२, विकास नगर नयी दिल्ली . दिनांक - 17/04/2017 प्रिय भाई...

और जानिएं »

0
आंगन
आंगन

आंगन तिनका-तिनका जो समेटा हैं कोई आँधी कोई तूफाँ उसे बिखेर न दे, मेरे अपनों का रूबी श्रीमाली ये आंगन जो सजाया हैं अपनी इच्छओ ...

और जानिएं »

0
महाराणा प्रताप
महाराणा प्रताप

महाराणा प्रताप  छंद-आल्हा या वीर (16,15 पर यति गुरू लघु चरणांत) राणा सांगा का ये वंशज         रखता था रजपूती शान। कर स्वतंत्रत...

और जानिएं »

1
पुस्तक प्रकाशन
पुस्तक प्रकाशन

पुस्तक प्रकाशन हर रचनाकार, चाहे वह कहानीकार हो, नाटककार हो या समसामयिक विषयों पर लेख लिखने वाला हो, कवि हो या कुछ और, चाहेगा कि मेर...

और जानिएं »

1
प्रेम - एक कसक जिंदगी की
प्रेम - एक कसक जिंदगी की

प्रेम - एक कसक जिंदगी की मैं ना जानू जग रीत कोई बस तू अपना सा लागे। सुनने में कितनी अच्छी लगती है न प्रीत की बाते,सब कुछ जैसे सुरमय ...

और जानिएं »

1
नौका विहार
नौका विहार

नौका विहार यात्रा ही जीवन का असली आनंद है . रेल यात्रा या बस से यात्रा तो प्राय : सभी करते हैं . परन्तु नौका द्वारा यात्रा करने का एक अन...

और जानिएं »

0
विलम्ब
विलम्ब

विलम्ब आधुनिकता के चलते मनुष्य कितना व्यस्त हो गया हैं न जैसे एक मशीन को न करते हैं और वो अपनी क्षमता के आधार पर कार्य करती चली जाती है ...

और जानिएं »

0
स्वभाव
स्वभाव

स्वभाव  "महाराज ,मैं अब इन आत्माओं  को नहीं सम्भाल सकता !" बहुत बवाल करती हैं । क्या हुआ ? -- स्वर्ग में आत्माओं का विभा...

और जानिएं »

1
 अपराधी कौन
अपराधी कौन

  अपराधी कौन  रात का समय था । चारो तरफ सन्नाटा पसरा हुआ था। गोलो की तेज आवाज से अचानक मेरे नींद टूटी तो मैंने अपना हाथ मोबाइल की त...

और जानिएं »

0
अकड़
अकड़

अकड़ खिचड़ी हो चुके बाल और चेहरे पर उभर आये उम्र के निशान भी अंजनी फूफाजी की अकड़ को कम नहीं कर पाये थे। अंजनी फूफाजी अपने दोस्तों के बी...

और जानिएं »

1
सुख दुःख
सुख दुःख

सुख दुःख छंद -दोहा सुख दुःख सदा न जानिए ,जीवन के हैं अंग। सुख में मन हर्षित रहे ,दुःख में सब बदरंग।। सुख वैभव क्षण मात्र हैं ,रह...

और जानिएं »

0
माँ
माँ

माँ माँ एक छोटा सा शब्द है | माँ शब्द आते ही पूरे ब्रह्मांड की शक्ति आ जाती है | माँ एक सरलता की मूर्ति होती है | माँ के बिना जीवन का...

और जानिएं »

0
दोस्ती मस्ती
दोस्ती मस्ती

दोस्ती मस्ती दिनेश और मनोज दोनो बहुत अच्छे मित्र थे।वो बचपन से ही साथ मे खेले ,पढ़े और बड़े हुए। दोनो हर मामलो में एक दूसरे को चैलेंज कि...

और जानिएं »

0
मुक्ता की उलझन
मुक्ता की उलझन

मुक्ता की उलझन मुक्ता ने जब से होश संभाला है तबसे ही वह पिता के रौद्र रूप से रूबरू रही है।मुक्ता के पिता अत्यंत विद्वान,समाज के प्रतिष...

और जानिएं »

0
हाइकु का हिन्दी संस्करण
हाइकु का हिन्दी संस्करण

हाइकु का हिन्दी संस्करण  हाइकु एक जापानी काव्य विधा है किन्तु अपनी संक्षिप्तता ओर अर्थ-गांभीर्य से यह अन्य देशों और अन्य भाषाओं में न के...

और जानिएं »
 
 
Top