0
Advertisement

 हमारा प्यारा भारतवर्ष

 हमारा प्यारा भारतवर्ष
भारत एक देश है जहाँ हम सब भारतीय इस भारत की छत्रछाया में रहते हैं | भारत को हर भारतीय माँ की दृष्टि से देखता है | भारत का अपना इतिहास है | कई आक्रमणों को झेला है लेकिन सदियों से भारत रहा है और सदियों तक रहेगा, चाहे जितना कोशिश करें कि भारत को भूल जायें | यह शायद होना मुश्किल है, भारत की भारतीयता भी अजीब है, अजीब रंगत है, कहानियों से भरी पड़ी है |  अजब-गजब यहाँ के तीज त्योहार हैं | यहाँ की तरह-तरह संस्कृतियाँ हैं | तरह-तरह की भाषायें हैं | तरह-तरह के रूप रंग हैं | अजब-गजब की बोलियां हैं | भिन्न-भिन्न प्रकार की पोशाकें हैं | इन्हीं सारी विविधिता के कारण भारत का रंग सुनहरा हो गया है, सोने की चिड़िया इसीलिये तो भारत को कहा गया है | इस भारत की कहानी भावनाओं से ओतप्रोत है | विशाल गहराई से युक्त भारत को हम सब माँ का दर्जा देते हैं |
       अगर भारत का दर्शन करना चाहते हैं तो कहीं से प्रवेश कर जाइये जहाँ से प्रवेश करेंगें वहीं से इसकी भारतीयता का सुगंध मिलने लगेगी | वहीं से सोंधी खुशबू रगों में भरने लगेगी यहाँ के लोगों की बात करें तो बिल्कुल सादगी व सरलता से भरा इंसान मिलेगा |  आत्मीयता का स्वभाव नजर आयेगा | बहुत ही सम्मान करने वाला, कह लिजिये कि यहाँ आये अतिथियों के सामने कलेजा भी निकाल कर रख देने वाला अगर कहीं मिलेगा तोे वह भारत के हर कोने में मिल जायेगा | मां जैसा स्नेह उदार हृदय से युक्त, प्रेम करूणा दया से भरी भावनायें, गरीबों के प्रति सहृदयता भरी दास्तां मिल जायेगी कहानी किस्सों में न्याय व दया का रंग बरसता नजर आयेगा, यही तो सच्ची भारतीयता है | ऐसी भावनायें देखना हो भारत दर्शन करना चाहिये, जो सच्ची भावना के साथ इस विशाल सरोवर में नहाना चाहे नहा सकता है और सुंदर भावों का दर्शन भी कर लेगा |
     साधु संतों वाला देश जहाँ गेरूआ वस्त्र धारण किये हुये लोग मिल जायेंगें | मंदिर व मस्जिद मिल जायेंगें | चर्च व गुरूद्वारे मिल जायेंगें |  तम्बुओं का शहर भी दिख जायेगा | बड़ी बड़ी कंपनियाँ व इमारतें मिल जायेंगीं | बडे बड़े़े सितारे ,नेता व अभिनेता मिल जायेगें | सुंदर-सुंदर कलाकृतियाँ तो मन ही मोह लेगी | भारतीय नृत्य तो जी भर पीने का मन करेगा | नदियाँ झरने यहाँ की शान हैं | पर्वत पहाड़ यहाँ की विजय पताका है | खेत खलिहान तो यहाँ की चूनरी है, फलों से भरा यह देश यहाँ का स्वास्थ्य है और यहीं मिल जायेंगें देवी देवता और तो और पूरे विश्व का दर्शन कराने वाला साहित्य भी यहीं मिल जायेगा | यहीं तो भारतीय किसान भी मिट्टी से खेलता मिल जायेगा और यहीं भारतीय नारी जो ममतामयी त्याग की मूर्ति है, मिल जायेगी | बड़े बड़े गीत संगीत यहीं मिल जायेंगें | सच्चे जीवन का दर्शन तो पूरे घर-घर में मिल जायेगा |
       तमाम खूबियाँ हैं इस देश में ,नई-नई उमंगें तो भारत की लहलहाती फसल की तरह है,चंदन जैसी शीतलता वाले इस देश को भुलाया नहीं जा सकता है,जहाँ पत्थरों में भगवान मिल जाते हैं,जहाँ हृदय में पवित्रता की आंधी बहती हो,यहाँ हर सारी चीजें मिल जाती हैं | हर पेड़ पौधों में ईश्वर का रूप नजर आता है | यह सब भारत में ही तो मिलता है | हमें कोई कहे की भारत छोड़ दो, चलो जन्नत में तुम्हे बसा दें | वह मेरे लिये किसी दुश्मन से कम नहीं होगा | भारत के विरोध में बोलने वाले समझों जहर का घूँट पिला रहे हैं | भारत का हर कोई दर्शन नहीं कर सकता है यदि दर्शन करने के आकांक्षी हैं तो सहज सहृदयी मन बनाना पड़ेगा | मधुर नैनों से निहारना होगा तभी भारत का दर्शन सुलभ हो पायेगा |

Writer
Jay chand prajapati 'kakkoo'
Jaitapur,Handia, Allahabad
Mo.7054868439

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top