1
Advertisement

ज़िन्दगी ज़िन्दगी न रही फेसबुक 📖हो गई

दीदी की प्रो पिक हॉट 💃लुक हो गई
हर सोंच को लाइक्स 👍की बीमारी हो गई
हर इंसान को स्टेटस ✍ की ख़ुमारी हो गई
ये नेता👈 ऐसा वो 👉नेता ऐसा सबकी
अर्चना मेहता
अर्चना मेहता
अपनी अपनी उम्मीदें 🤔और अपनी अपनी आशा
तू तड़ाक और गन्दी गाली 😳असभ्य भाषा
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ📢 का बेदम सा नारा 
जिसे देखो वही 😎शख़्स अपना ही राग गा रहा
बेटी सड़कों 😔 पे हर दिन शिकार हो रही
देखो न सोच किस विकृति 😷का विकार हो रही
लाइक 👍करो कमेंट करो शेयर करो
देखो फिर क्या कमाल होता है
कुछ नहीं होता बस बेवकूफ👻 बनाने
के लिए फैका हुआ इक जाल 🕸होता है
मन्दिर 🕉भी यहीं मस्जिद🕌 भी 
यही ⛪गिरजाघर गुरुद्वारा है
जैसे भगवान् ने तो ब्रह्माण्ड 🌘को 
छोड़ कर डेरा यहीं पे जमाया है
लाइक 👍करो शेयर करो नही तो अमंगल🤔 होगा
जैसे इनके कहने भर से ही सबका मंगल 🎉होगा
पढ़े लिखे सब अपनी मत गँवा रहे हैं
खुद का मत तो है नहीं बस कॉपी📖 पेस्ट
कर अपनी धाक😎 जमा रहे हैं
तू 👇गलत मैं सही की जँग👊 छिड़ी है
देखो 👀न? बुद्धि बेचारी बीच 🛣सड़क खड़ी है!

नाम ---अर्चना मेहता
रुचि---अच्छा साहित्य पढ़ना एवं कविताएं लिखना
व्यवसाय---अध्यापिका
लिखने में मेरी रुचि बचपन से ही थी किन्तु मैंने कभी इसमें आगे बढ़ने की कोशिश नहीं की। मैं साहिबाबाद शहर की रहने वाली हूँ तथा मेरे मित्रों द्वारा प्रेरित करने पर आगे बढ़ने का प्रयास कर रही हूँ आशा करती हूँ की हिन्दीकुंज से मै जुड़ कर अपनी पहचान बना पाऊँगी। मेरा अपना फेसबुक पर पेज भी है जिस पर मेरी कविताओं को लोग काफी पसंद करते हैं तथा हिंदी साहित्य पर भी मेरी कवितायेँ प्रकाशित होती हैं जो की आपकी तरह ही नए रचनाकारों को प्रोत्साहित करने के लिए एक वेबसाइट है।

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top