0
जीयें आप
जीयें आप

जीयें आप कितनी मीठी है ये दुआ। कितना सुन्‍दर है यह आशीष । ये शब्‍द झंकृत कर सकते हैं किसी के भी हृदय, मन और आत्‍मा को । शायद जीवन के सबस...

और जानिएं »

0
 काकी
काकी

 काकी गाँव की हलचल की बात ही कुछ निराली है | गांव का वातावरण मन मोह लेता है लेकिन उससे ज्यादा कहीं काकी की बातें ज्यादा मन मोह लेती है ...

और जानिएं »

0
जीवन की परिभाषा
जीवन की परिभाषा

जीवन की परिभाषा मैंने पूछा एक कली से ,  "आपके ख्याल मे जीवन की परिभाषा क्या हैं " कली मुस्काई और बोली  , "मेरे जीवन...

और जानिएं »

1
पर्यावरण मित्र ट्रेन
पर्यावरण मित्र ट्रेन

हाइड्रोजन से चलने वाली पर्यावरण-मित्र ट्रेन : जर्मनी की कोराडिया आईलिंट डॉ. शुभ्रता मिश्रा जब भी विज्ञान के क्षेत्र में कोई नया अविष्क...

और जानिएं »

1
सामायिक परिदृश्य और कथा स्रष्टा - प्रेमचंद
सामायिक परिदृश्य और कथा स्रष्टा - प्रेमचंद

​ सामायिक परिदृश्य और कथा स्रष्टा - प्रेमचंद  महेन्द्रभटनागर रांगेय राघव, अमृतराय और धर्मवीर भारती की पीढ़ी के लेखक हैं। उन्होंने प्रायः ...

और जानिएं »

1
अब मैं घर छोड़ चला
अब मैं घर छोड़ चला

अब मैं घर छोड़ चला  अब मैं घर छोड़ चला , इन माया मोह विकारों का| मैं चला परम निज धाम चला , जो सूरज चाँद सितारों का || अभिजीत प...

और जानिएं »

2
खोया हुआ आदमी
खोया हुआ आदमी

खोया हुआ आदमी वह आदमी न जाने कहाँ से भटकता हुआ दूर-दराज़ के उस गाँव में पहुँचा था । गाँव के कुत्तों ने जब चीथड़ों में लिपटे उस आदमी को द...

और जानिएं »

1
लव लेटर
लव लेटर

लव लेटर काॅलेज का पहला दिन था । स्कूल की तरह कोई यूनिफाॅम नहीं और न ही अत्यधिक अनुशासन,बस होगी तो मौज - मस्ती ।मैं इन्हीं ख्यालों मे खोई...

और जानिएं »

3
अप्सरा
अप्सरा

अप्सरा एक अप्सरा कैद है दुनिया की सबसे ऊँची चोटीपर बने तहखाने में जिसकी भारी-भरकम चाबी लटका दी गयी है उस पुरा-पुरुष के कंठ में जो अभि...

और जानिएं »

1
कवि सम्मेलन
कवि सम्मेलन

कवि सम्मेलन कवि सम्मेलन आम था  लोगों का नाम था  दो चार कवि  मुँह पिचकाएँ बैठे  जैसे हो गया हरण  भरे बाजार में I  मैंने...

और जानिएं »

1
मेरी माँ
मेरी माँ

मेरी माँ यूँ तो हूँ मैं बहुत बड़ी पर दिल से फिर भी छोटी हूँ ,  दुःख की घड़ी मे याद तुझे कर छूप - छूप कर माँ रोती हूँ । माथा चूमना ...

और जानिएं »

1
तुम्हारा इंतजार था
तुम्हारा इंतजार था

तुम्हारा इंतजार था गाड़ी में बैठते हुए बाहर का नजारा देखकर अनायास ही चेहरे पर मुस्कराहट आ गई ।आँखों को शुकुन देने वाली हरियाली ,बीच - ...

और जानिएं »

1
भये प्रगट कृपाला दीनदयाला
भये प्रगट कृपाला दीनदयाला

भये प्रगट कृपाला दीनदयाला भये प्रगट कृपाला दीनदयाला कौसल्या हितकारी। हरषित महतारी मुनि मन हारी अद्भुत रूप बिचारी॥१॥ लोचन अभिरामा ...

और जानिएं »

2
तुम बिन जीना सीख रही हूँ
तुम बिन जीना सीख रही हूँ

तुम बिन जीना सीख रही हूँ तुम बिन जीना सीख रही हूँ , दुःख को पीना सीख रही हूँ । यादें तेरी रूलाती मुझको , झूठा मुस्काना सीख रही ह...

और जानिएं »

1
समरूप भिन्नार्थक शब्द (Hindi Homonym Words)
समरूप भिन्नार्थक शब्द (Hindi Homonym Words)

समरूप भिन्नार्थक शब्द (Hindi Homonym Words) जो शब्द सुनने में एक जैसे लगते हैं किन्तु उनके अर्थ में भिन्नता होती है , उन्हें समध्वनि भिन्...

और जानिएं »

3
गरीब की मेहनत
गरीब की मेहनत

गरीब की  मेहनत         "बाबूजी घर में सारा राशन ख़त्म हो गया अब बचा है तो केवल गर्म पानी I " रौशनी ने कहा      "तू चि...

और जानिएं »

2
आज किस हक से
आज किस हक से

आज किस हक से मुझे तुमसे मोहब्बत हैं कहूँ ये आज किस हक से , पुष्पा सैनी तड़पती हूँ दिल ही दिल मे कहूँ ये आज किस हक से । जमाने भर ...

और जानिएं »

10
अनेकार्थी शब्द
अनेकार्थी शब्द

अनेकार्थी शब्द (Words with Various Meanings) जहाँ एक शब्द के दो या दो से अधिक अर्थ निकलते हों , उन्हें अनेकार्थी शब्द कहा जाता है .  ...

और जानिएं »
 
 
Top