2
Advertisement

स्वतंत्रता दिवस - Independence Day

पंद्रह अगस्त एवं छब्बीस जनवरी दो ऐसे राष्ट्रीय पर्व हैं जिन्हें सम्पूर्ण देश बड़े ही धूम - धाम से मनाता है . पंद्रह
अगस्त को हमें आजादी मिली थी . इसीलिए इसे स्वतंत्रता दिवस भी कहते हैं

वर्णन :

स्वतंत्रता दिवस पूरे देश के लिए गौरव का दिवस है . इस दिवस को मनाने के लिए महीनों पहले आयोजन होने लगता है . दिल्ली में तो इस दिवस को मनाने के लिए पूरे देश से सैनिक जाते हैं . पूरे भारत में सभाएँ होती हैं . इस दिन सुबह से ही बड़े भवनों पर तिरंगे झंडे पहराने लगते हैं . प्रातः काल ही सड़कों पर प्रभात फेरियाँ होने लगती है ,भारत माता की जय से सम्पूर्ण देश गूँज उठता है . बड़े बड़े शहरों में सैनिक परेड होती हैं . देश की प्रत्येक राजनीतिक पार्टियाँ तरह - तरह के आयोजन करती हैं . इस अवसर पर देश भक्ति के गाने ,नाटक एवं प्रहसन किये जाते हैं . स्कूलों ,विद्यालयों एवं कॉलेजों में सभाएँ होती हैं . यह दिन प्रतिज्ञा का दिन है . हम सभी एक झंडे के नीचे देश की शान एवं समृधि के लिए आयोजन करते हैं . राष्ट्रपति का सन्देश रेडियो एवं टेलीवीजन द्वारा प्रसारित किया जाता है .

महत्व :

पंद्रह अगस्त देशवासियों के लिए बहुत ही महत्व का दिन है . इस दिन हम अंग्रेजों के अत्याचार एवं देश वासियों के अद्भुत त्याग को याद करते हैं . इसी दिन हम गांधी जी ,सुभाष बाबु ,भगत सिंह ,नेहरु जी , सरदार पटेल आदि का स्मरण करते हैं . यह वही दिन है जब एक झंडे के नीचे हम सब एक होकर देश की रक्षा की प्रतिज्ञा करते हैं . इसे मनाने से लोगों के अन्दर राष्ट्रीय प्रेम की भावना का विकास होता है . इस दिन को प्राप्त करने के लिए कितने घर जला दिए गए .कितने लोग फाँसी पर झूल गए . उन्हें भुलाना ठीक नहीं .

कमी :

१५ अगस्त १९४७ के बाद हम हर साल इस त्यौहार को मनाते हैं . हमलोग केवल भाषण एवं नारे देकर ही संतोष कर लेते हैं .

उपसंहार :

स्वतंत्रता हर व्यक्ति के लिए एक नयी प्रेरणा लेकर आती है . हमें स्वार्थ को छोड़कर देश की गरिमा बढ़ाने में लग जाना चाहिए . यह स्वतंत्रता बहुत बहुमूल्य है .अतः हमें इसकी रक्षा का प्रयास प्राण देकर भी करना चाहिए . 

एक टिप्पणी भेजें

  1. बहुत अच्छी एक जरुरी पोस्ट प्रस्तुति हेतु धन्यवाद!
    बिडम्बना है स्वतंत्रता का असली मोल अब तक हम पूरी तरह नहीं समझ पाये हैं, तभी तो आजादी के इतने वर्ष बाद भी हमारा देश विकसित देशों की कतार में नहीं आ पाया है। ..

    उत्तर देंहटाएं
  2. स्वतंत्रता दिवस देशवासियों के लिए बहुत ही महत्व का दिन है,अपने देश का नाम आते ही हर व्यक्ति के सीना चौड़ा हो जाता हैं.

    भारत माता की जय

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top