1
Advertisement

होली का त्योहार

भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है क्योंकि यहाँ पूरे वर्ष समय - समय पर कोई न कोई त्योहार मनाया जाता है . समय - समय पर आने वाले ये त्योहार हमारे जीवन में अत्यधिक उल्लास और हर्ष भर देते हैं , तो साथ ही हमें अपनी संस्कृति और परम्पराओं से जोड़े भी रखते हैं .

त्योहार का समय 

होली भी हिन्दुओं का प्रसिद्ध त्योहार है जो प्रति वर्ष फाल्गुन मास की पूर्णिमा को अत्यंत उत्साह से पूरे देश में मनाया जाता है . यह त्योहार वसंत - ऋतू का संदेशवाहक बनकर आता है . इन दिनों किसानों की फसलें पाक कर तैयार होती हैं तथा चारों ओर वसंत का सौन्दर्य छाया रहता है .

पौराणिक कथा

प्रत्येक त्यौहार से कोई - न - कोई पौराणिक कथा या सामाजिक सन्दर्भ अवश्य जुड़ा होता है . होली से एक प्राचीन कथा जुडी है . दैत्यराज हिरण्यकश्यप नास्तिक था . वह नहीं चाहता था कि उसके राज्य में कोई भी ईश्वर का नाम ले , पर दैत्यराज का पुत्र प्रहलाद ईश्वर का परम - भक्त निकला . जब वह पिता के मना करने पर भी ईश्वर भक्ति से बिमुख न हुआ , तो पिता ने अपने पुत्र को अनेक यातनाएँ दी , पर एक बार भी प्रहलाद का बाल बाँका न हुआ .
अंत में उसने अपनी बहन होलिका से प्रहलाद को गोद में लेकर जलती अग्नि में बैठने को कहा . होलिका को आग में न जलने का वरदान मिला हुआ था . ईश्वर की माया कुछ ऐसी हुई कि होलिका अग्नि में जल गयी और प्रहलाद बच गया . इसी घटना की याद में आज भी लोग लकड़ियों की ढेर की होली बना कर जलाते हैं तथा उसकी परिक्रमा करते हैं .

होली का सन्देश 

अगले दिन फाग खेला जाता है . सुबह से ही लोग टोलियाँ बना कर एक - दूसरे को गुलाल लगाते हैं ,रंग डालते हैं और गले मिलते हैं . लोग नाचते - गाते अपने घरों से निकलते हैं और रंग का उत्सव दोपहर तक चलता रहता है. दोपहर के बाद लोग एक दूसरे को मिठाइयाँ खिलाते हैं . होली का पर्व प्रेम , एकता और भाई -चारे का सन्देश देता है . कुछ लोग इस दिन मद्यपान करके इसकी पवित्रता को नष्ट करते हैं . हमें इस बुराई को रोकना चाहिए और ख़ुशी -ख़ुशी रंगों के त्योहार होली का आनंद लेना चाहिए .

keywords : holi festival hindi , short essay on holi festival in hindi .

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top