1
Advertisement

 व्यायाम और स्वास्थ्य
Benefits Of Exercises

हमारे पूर्वज कहा करते थे  - तंदुरुस्ती लाख नियामतों से भी अच्छी है . अतः पहला सुख निरोगी काया माना गया है . देह को निरोग रखने के लिए व्यायाम आवश्यक है . इससे देह सुडौल व अंग - संस्थान व्यवस्थित होता है . स्वास्थ्य का अर्थ सिर्फ मोटा होना नहीं होता . अनेक मोटे व्यक्ति अत्यंत दुर्बल और अक्ल के मोटे होते हैं . स्वस्थ मानव की बुद्धि ठीक रहती है और अस्वस्थ मानव की बुद्धि मंद हो जाती है . इसीलिए स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम आवश्यक है . इसी तरह मानसिक प्रगति के लिए भी व्यायाम अनिवार्य है ,क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है . व्यायाम से मन में प्रफुल्लता और स्फूर्ति आती है .भ्रमण करना , शुद्ध
हवा का सेवन करना ,दंड - बैठक लगाना आदि व्यायाम ही है .


आलस्य मानव जीवन को शिथिल बना देता है . आलसी की बुद्धि में मंद होती है . व्यायाम से देह के आंतरिक अंगों में स्फूर्ति और रक्त - संचार में गतिआती है जिससे मन प्रसन्न रहता है और शरीर स्वस्थ रहता है . व्यायाम के बिना पाचन क्रिया ठीक प्रकार से नहीं हो पाती . पेट में कई प्रकार के विकार उत्पन्न हो जाते हैं और देह को अनेक रोगों का सामना करना पड़ता है .जो सामान्य रूप से सुरक्षा हेतु व्यायाम करते है , वे आजीवन स्वस्थ रहते हैं .
वर्तमान युग में बहुधा सभी प्रकार के कामों के लिए विभिन्न प्रकार के साधन व उपकरण बन गए हैं . व्यायाम के लिए साधन व उपकरणों की कमी नहीं हैं . योग में दिए गए विभिन्न आसनों करने से शरीर के विभिन्न अंगों को यथा योग्य श्रम करना पढता है और उसी क्रम से उनका विकास होता है . इसीलिए ऐसा व्यायाम अधिक लाभकारी रहता है . व्यायाम सदा साफ़ वातावरण में करना चाहिए ताकि साँस लेने के लिए स्वस्थ वायु मिल सके .
निष्कर्ष रूप से यह कहा जा सकता है कि मानव शरीर के लिए व्यायाम अत्यंत अवश्यक है . यह शरीर को अधिक समय तक निरोग व सुखी बनाये रखने के लिए एकमात्र साधन है .

एक टिप्पणी भेजें

  1. साधारण शब्दों में लिखिए और उसे अच्छी तरह से ट्रांसलेशन कर दीजिए अंग्रेजी में ताकि बच्चों को हिंदी और अंग्रेजी दोनों का लाभ मिल सके

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top