2
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

हिंदीकुंज के पाठकों को नव वर्ष 2016 की हार्दिक शुभकामनाएँ  नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

और जानिएं »

3
स्त्री : एक परिभाषा
स्त्री : एक परिभाषा

स्त्री : एक परिभाषा माँ, बहिन, अर्धांगिनी, बेटी और ना जाने ऐसे कितने ही रुप को धारण करने वाली वो मुरत कलयुग में स्त्री के नाम ‍से जानी ज...

और जानिएं »

0
किताबों के बोझ से
किताबों के बोझ से

किताबों के बोझ से 1.किताबों के बोझ से मर रहा है बच्‍चा घरों में सड़कों पे स्‍कूलों में ज्ञान के बोझ से मर रहा है बच्‍चा मेरे भीतर का...

और जानिएं »

0
पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता पंकज सिंह
पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता पंकज सिंह

पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता पंकज सिंह जनवादी लेखक संघ हिन्दी के महत्वपूर्ण कवि, पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता पंकज सिंह के आकस्मिक नि...

और जानिएं »

4
वे (हिंदी कहानी )
वे (हिंदी कहानी )

    वे : सुशांत सुप्रिय द्वारा रचित कहानी             रेलगाड़ी के इस डिब्बे में वे चार हैं , जबकि मैं अकेला हूँ । वे हट्टे-कट्टे हैं , ...

और जानिएं »

232
संधि विच्छेद (Sandhi viched )
संधि विच्छेद (Sandhi viched )

संधि विच्छेद संधि में पदों को मूल रूप में पृथक कर देना संधि विच्छेद है . जैसे - धनादेश = धन + आदेश . यहाँ पर कुछ प्रचलित संधि विच्छेदों क...

और जानिएं »

2
स्वार्थी  इंसान
स्वार्थी इंसान

  स्वार्थी  इंसान कितना स्वार्थी, कितना लालची ? सबसे बड़ा ये बुद्धिमान दया धरम सब भूल गया, भूल गया प्रभु का गुणगान सारे जीवों का ये भ...

और जानिएं »

11
संधि ( Sandhi or Combination of Letters )
संधि ( Sandhi or Combination of Letters )

संधि ( Sandhi or Combination of Letters )  दो वर्णों ( स्वर या व्यंजन ) के मेल से होने वाले विकार को संधि कहते हैं . संधि में कहीं एक अक्...

और जानिएं »

0
सुन लो हमारी कहानी ये प्यारी
सुन लो हमारी कहानी ये प्यारी

सुन लो हमारी कहानी ये प्यारी सुन लो हमारी कहानी ये प्यारी जिससे जुड़ी है हर याद हमारी न हमको पता है न तुमको पता है हर डाल से लिपटी ...

और जानिएं »

0
समय सरगम : गुजर चुके जीवन से छनी अनुभवों की दास्ताँ
समय सरगम : गुजर चुके जीवन से छनी अनुभवों की दास्ताँ

समय सरगम : गुजर चुके जीवन से छनी अनुभवों की दास्ताँ “उम्र कभी धोखे में नहीं आती। उसके पास संचित होता है जिए हुए का सत्यांश। अनुभव ... ...

और जानिएं »

0
ॠष्यमूक (कविता )
ॠष्यमूक (कविता )

ऋषीमुख     (  कविता )                                                       ......  क्षेत्रपाल शर्मा                           गिरि ...

और जानिएं »

2
जुगाड तकनीक के विविध आयाम
जुगाड तकनीक के विविध आयाम

जुगाड तकनीक के विविध आयाम सच में हमारा देश विविधता में एकता का नायब नमूना है .एक तरफ तो हम मंगल तक की खैर खबर लेने के लिए यान भेज रहे...

और जानिएं »

4
रमाशंकर यादव 'विद्रोही'
रमाशंकर यादव 'विद्रोही'

कवि रमाशंकर यादव 'विद्रोही' की  याद में आज एक कवि मर गया आपका, हमारा, पूरी दुनिया का लेकिन मोहनजोदड़ों के  तालाब की सीढ़ी ...

और जानिएं »

2
बूँदें (लघु कथा )
बूँदें (लघु कथा )

बूँदें "पिताजी ने अपने अंतिम समय में इस कटोरी में बहुत सारी बूँदें दी थीं, और कहा था कि 'बेटा, यही एक गुजारिश है कि इन्हें ...

और जानिएं »

2
स(विष)मताएं
स(विष)मताएं

स(विष)मताएं सन 1990 के दशक में ही दिल्ली के आई टी ओ पर सिग्नल लाल होने पर रुक रहने के बाद, उसके हरा होने पर आँखें लाल हो जाती थी...

और जानिएं »

0
गली का साधू
गली का साधू

गली का साधू उस गली में बहुत भीड़ थी जो कभी रात में डरावनी हुआ करती।  मैंने वहाँ जाकर देखा,कुछ लोग साधु रुपी भास्कर.कॉम के सौजन्य  ...

और जानिएं »

1
राष्ट्र गान का आदर
राष्ट्र गान का आदर

राष्ट्र गान का आदर हाल ही में एक खबर पढ़ने को मिली – बेंगलूरु में एक सिनेमा हॉल में चार लोगों को अन्य दर्शकों ने हॉल के बाहर खदेड़...

और जानिएं »
 
 
Top