2
बंदर / असगर वज़ाहत की कहानी
बंदर / असगर वज़ाहत की कहानी

असगर वजाहत  एक दिन एक बंदर ने एक आदमी से कहा-- "भाई, करोड़ों साल पहले तुम भी बंदर थे। क्यों न आज एक दिन के लिए तुम फिर बंदर बनकर...

और जानिएं »

9
कुछ सपनों के मर जाने से / गोपालदास 'नीरज'
कुछ सपनों के मर जाने से / गोपालदास 'नीरज'

गोपालदास 'नीरज' छिप-छिप अश्रु बहाने वालों, मोती व्यर्थ लुटाने वालों कुछ सपनों के मर जाने से जीवन नहीं मरा करता है सपना क...

और जानिएं »

1
जीवन  : एक अनुभूति / महेंद्र भटनागर
जीवन : एक अनुभूति / महेंद्र भटनागर

महेंद्र भटनागर . बिखरता   जा   रहा   सब   कुछ  सिमटता   कुछ   नहीं   ! . ज़िन्दगी   : एक   बेतरतीब   सूने   बंद   कमरे   की  ...

और जानिएं »

0
चप्पल / कमलेश्वर की कहानी
चप्पल / कमलेश्वर की कहानी

कमलेश्वर कहानी बहुत छोटी सी है मुझे ऑल इंडिया मेडिकल इंस्टीटयूट की सातवीं मंजिल पर जाना था आईसीयू में गाड़ी पार्क करके चला तो मन बहुत...

और जानिएं »

2
गैर क्या जानिये/फिराक गोरखपुरी
गैर क्या जानिये/फिराक गोरखपुरी

फिराक गोरखपुरी गैर क्या जानिये क्यों मुझको बुरा कहते हैं आप कहते हैं जो ऐसा तो बजा कहते हैं वाक़ई तेरे इस अन्दाज को क्या कहते हैं ...

और जानिएं »

20
बूढी काकी/ प्रेमचंद की कहानी (विडियो)
बूढी काकी/ प्रेमचंद की कहानी (विडियो)

प्रेमचंद प्रिय मित्रों , हिन्दीकुंज में प्रेमचंद की प्रसिद्ध कहानी 'बूढी - काकी' को विडियो के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है...

और जानिएं »

2
नैतिकता का अवमूल्यन/विचार मंथन
नैतिकता का अवमूल्यन/विचार मंथन

मनोज सिंह एक विज्ञापन को देखा तो पहले पहल तो चौंका फिर हैरानी हुई, और फिर बहुत देर तक सोचने के लिए मजबूर हुआ था। एक व्यक्ति समय से पूर्...

और जानिएं »

3
तुम्हारे ख़त में/दाग़ देहलवी
तुम्हारे ख़त में/दाग़ देहलवी

दाग़ देहलवी तुम्हारे ख़त में नया इक सलाम किस का था न था रक़ीब तो आख़िर वो नाम किस का था वो क़त्ल कर के हर किसी से...

और जानिएं »

2
काहे को ब्याहे बिदेस/ अमीर खुसरो
काहे को ब्याहे बिदेस/ अमीर खुसरो

अमीर खुसरो काहे को ब्याहे बिदेस, अरे, लखिय बाबुल मोरे ...

और जानिएं »
 
 
Top