10
Advertisement
५१ . टका सा जबाब देना ( साफ़ इनकार करना ) - मै नौकरी के लिए मैनेज़र से मिला लेकिन उन्होंने टका सा जबाब दे दिया .
५२.टस से मस न होना ( कुछ भी प्रभाव न पड़ना ) - दवा लाने के लिए मै घंटों से कह रहा हूँ , परन्तु आप आप टस से मस नहीं हो रहे हैं .
५३.टोपी उछालना (अपमान करना ) - अपने घर को देखो ,दूसरों की टोपी उछालने से क्या लाभ ?
५४. डकार जाना ( हड़प जाना ) - सियाराम अपने भाई की सारी संपत्ति डकार गया .
५५. तिल का ताड़ बनाना (छोटी बातों को बढ़ा देना ) - मै समझ रहा हूँ कि तुम तिल को ताड़ बनाकर झगड़ा कर रहे हो .
५६.तूती बोलना (प्रभावशाली होना ) - सत्ता में सोनिया गांधी की तूती बोल रही थी .
५७.थूक कर चाटना (बात देकर फिरना ) - मै राम की तरह थूक कर चाटना वाला नहीं हूँ.
५८.दम टूटना (मर जाना ) - शेर ने एक  ही गोली में दम तोड़ दिया .
५९.दाल में काला होना (संदेह होना ) - हम लोगों की ओट में ये जिस तरह धीरे -धीरे बातें कर रहें है, उससे मुझे दाल में काला लग रहा है .
६०.बाजी मारना (जीत पाना ) - आज आपने खेल में बाजी मार लिया .
६१.बात बनाना (बहाना बनाना ) - तुम हर काम में बात बनाना जानते हो .
६२.भीगी बिल्ली होना (बिलकुल डर जाना) - वह अपने पापा के सामने भीगी बिल्ली हो जाता है .
६३.मिट्टी के मोल (बहुत सस्ता ) - यह मकान मिट्टी के मोल बिक गया .
६४.मुट्ठी गरम करना (घूस लेना ) - चलो मुट्ठी गरम कराओ, आज ही काम करवा देता हूँ.
६५.मुँह बंद कर देना (शांत कराना) - तुम धमकी देकर मेरा मुँह बंद कर देना चाहते हो .
६६. मीठी छुरी (छली मनुष्य )- वह तो मीठी छुरी है ,मैं उसके बातों में नहीं आता हूँ।
६७. मुँह  काला होना - अपमानित होना - उसका मुँह  काला हो गया है ,अब वह कैसे किसी के सामने आएगा।
६८. मुँह  की खाना ( पराजित होना ) - पाकिस्तान ,भारत के आगे हमेशा  मुँह  की खाता रहता है।
६९. मख्खन लगाना ( चापलूसी करना ) - साहब को मख्खन लगाने के बाद भी मेरा काम नहीं बना।
७०. मगरमच्छ के आँसू  ( दिखावटी सहानुभूति ) मेरे घर में चोरी हो जाने पर रहीम चाचा मगरमच्छ के आँसू बहाने लगे।
७१. न रहेगा बॉस न बजेगी बाँसुरी - (कारण का ही नाश कर देना) - अपने मोहल्ले को  मच्छरों के प्रकोप से बचाने  के लिए लोग गन्दी नालियों की सफाई में जुट गए। इस तरह न रहेगा बॉस न बजेगी बाँसुरी।
७२. राम मिलायी जोड़ी ,एक अँधा एक कोढ़ी - (दो मनुष्यों का एक सामान होना) - राम और श्याम की अच्छी जोड़ी मिली।  दोनों चोर हैं।  इस तरह ठीक ही कहा है  राम मिलायी जोड़ी ,एक अँधा एक कोढ़ी।
७३. लकीर के फ़क़ीर - (पुरानी परम्परों का पालन करने वाला) - कबीरदास लकीर के फ़क़ीर नहीं थे तभी तो उन्होंने भक्ति मार्ग द्वारा उन्नति की राह निकाली।
७४. लाठी टूटे न साँप  मरे - (किसी की हानि हुए बिना स्वार्थ सिद्ध हो जाना)- राम किसी को हानि पहुँचाए  बिना काम करना चाहते है।  जैसे - लाठी टूटे न साँप  मरे।
७५. लालच बुरी बला  - (लालच से बहुत हानि होती है) - सभी जानते है कि लालच बुरी बला है ,फिर भी लालच में पड़  जाते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

  1. kya mujhe naak ke upar muhavare mil sakte hai
    it's urgent ..
    class work

    उत्तर देंहटाएं
  2. kya mujhe naak ke upar 10 muhaavare mil sakte hai
    it's urgent....
    class work

    उत्तर देंहटाएं
  3. kya mujhe naak ke upar muhavare mil sakte hai
    it's urgent ..
    class work

    उत्तर देंहटाएं
  4. बेनामीजून 03, 2016 9:31 am

    अभी अभी मैंने 40 मुहावरे लिखे होमवर्क की कॉपी मैं

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेनामीजून 03, 2016 9:32 am

    अभी अभी मैंने 40 मुहावरे लिखे अपनी होमवर्क की कॉपी मैं

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top