12
Advertisement
ख्वाहिशें, टूटे गिलासों सी निशानी हो गई।
जिदंगी जैसे कि, बेवा की जवानी हो गई।।
कुछ नया देता तुझे ए मौत, मैं पर क्या करूं
जिंदगी की शक्ल भी, बरसों पुरानी हो गई।।
मैं अभी कर्ज-ए-खिलौनों से उबर पाया नहीं
लोग कहते हैं, तेरी गुड़िया सयानी हो गई।।
आओ हम मिलकर, इसे खाली करें और फिर भरें
सोच जेहनो में नए मटके का पानी हो गई।।
दुश्मनी हर दिल में जैसे कि किसी बच्चे की जिद
दोस्ती दादा के चश्मे की कमानी हो गई।।
मई के ‘सूरज’ की तरह, हर रास्तों की फितरतें
मंजिलें बचपन की परियों की कहानी हो गई।।

यह ग़ज़ल सूरज राय 'सूरज' जी की है . सूरज करीब तीन दशकों से लगातार रचनाएं लिख रहे हैं। उनकी रचनाओं का संकलन ‘धुआं-धुआं सूरज’ नाम से प्रकाशित हुआ है। 

एक टिप्पणी भेजें

  1. आपकी इस पोस्ट का लिंक कल शुक्रवार को (२६--११-- २०१० ) चर्चा मंच पर भी है ...

    http://charchamanch.blogspot.com/

    --

    उत्तर देंहटाएं
  2. मैं अभी कर्ज-ए-खिलौनों से उबर पाया नहीं
    लोग कहते हैं, तेरी गुड़िया सयानी हो गई।।

    ज़िन्दगी की तल्ख हकीकतें बयाँ कर दीं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. मैं अभी कर्ज-ए-खिलौनों से उबर पाया नहीं
    लोग कहते हैं, तेरी गुड़िया सयानी हो गई

    kya baat hai ...बहुत ही लाजवाब ग़ज़ल है ... कमाल के शेर हैं ... सलाम है मेरा ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैं अभी कर्ज-ए-खिलौनों से उबर पाया नहीं
    लोग कहते हैं, तेरी गुड़िया सयानी हो गई।।

    बहुत खूबसूरत गज़ल कही है ..

    उत्तर देंहटाएं
  5. बड़े प्यारे से विम्ब लेकर रची गयी सुन्दर गज़ल!
    शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  6. गहन भावों की खूबसूरत अभिव्यक्ति. आभार.
    सादर
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  7. कुछ नया देता तुझे ए मौत, मैं पर क्या करूं
    जिंदगी की शक्ल भी, बरसों पुरानी हो गई...

    Umda rachna !

    .

    उत्तर देंहटाएं
  8. कुछ नया देता तुझे ए मौत, मैं पर क्या करूं
    जिंदगी की शक्ल भी, बरसों पुरानी हो गई।।
    Waah..Waah ..waah...
    Beinteha khoobsoort si buni hui ghazal

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top