1
Advertisement
एक सौदागर किसी रईस के पास एक घोड़ा बेचने को लाया और बार-बार उसकी तारीफ में कहता, “हुजूर, यह जानवर गजब का सच्चा है.
रईस साहब ने घोड़े को खरीद कर सौदागर से पूछा कि, “घोड़े के सच्चे होने से तुम्हारा मतलब क्या है?”
सौदागर ने जवाब दिया, “हुजूर, जब कभी मैं इस घोड़े पर सवार हुआ, इसने हमेशा गिराने का खौफ दिलाया, और सचमुच, इसने आज तक कभी झूठी धमकी न दी.

एक टिप्पणी भेजें

  1. हमने तो सुना था की सच सिर्फ कडवा ही होता है, ये कमबख्त तो खूखार भी निकला !

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top