3
Advertisement
एक दिन बीरबल और बादशाह पैदल ही घूमने निकल पड़े । एक जगह रास्ते में पखाना पड़ा हुआ था जो कि सूखकर काला हो गया था । बीरबल का रंग भी काला था ,इसीलिए बादशाह ने उन्हें लज्जित करने के लिए कहा - ' बीरबल ! यह पखाना तुम्हारे मुँह जैसा हो गया है' । बीरबल तो हाज़िर जबाब थे ही , फ़ौरन कहा - 'हुजूर ! जरा दो बूँद पानी पड़ने दीजिये फूलकर चगत्ता हो जाएगा ।

यह सुनते ही बादशाह शर्म के कारण चुप हो गए , कारण यह था कि बादशाह की जाति का नाम चगत्ता ही था ।

एक टिप्पणी भेजें

  1. शोभनम् ।।

    सुन्‍दरी हास्‍यकणिका ।।

    धन्‍यवाद:

    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. साधुवादार्ह: ।।


    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top