0
Advertisement
रेस्तरां मे काँफी पीते हुए कमलेश ने धीमे से प्रेम को बताया , देखो, उधर कोने वाली कुर्सी पर बैठा वह आदमी बडी देर से मुझे घूर रहा है।
प्रेम: तो घूरने दो ना । प्रेम लापरवाही से बोला ।
कमलेश: मै उसे जानता हँ, कबाडी है और हमेशा बेकार की चीजों मे दिलचस्पी लेता है।
*************************************************************************

अध्यापक (कक्षा मे) , बच्‍चो बताओ कि दूध को खराब होने से बचाने के लिए क्या करना चाहिए?
सोनू, जी उसे पी लेना चाहिए ।

*****************************************************************



दुकान पर आया ग्राहक कभी कोई चीज उठाता, उसे देखता, फिर उसे रखकर दूसरी चीज उठा लेता । कुछ पूछताछ भी की उसने, लेकिन कुछ खरीदा नही काफी देर तक उसने ऐसा ही किया तो झुंझलाकर दुकानदार ने पूछा - "श्रीमान जी, आखिर आपको चाहिए क्या ?
"मौका ! ग्राहक का सपाट सा जवाब था ।
************************************************************

मां ने अपनी खूबसूरत बडी बेटी से कहा बेटी, मै तेरी शादी किसी बडे घर मे करुंगी। नही मां, बेटी ने टोका- तुम तो मेरे शादी बहुत ही छोटे घर मे करना । क्यो बेटी? मां ने अचरज से पूछा अखिर उस घर की साफ सफाई तो मुझे ही करनी पडेगी न ।

*******************************************************************
एक समारोह मे नेता जी भाषण दे रहे थे, " हमें खुराक की समस्या के हल के लिए ज्यादा से ज्यादा अनाज ऊगाना चाहिए।" तभी एक शरारती उठ कर खडा हो गया और बोला." श्रीमान जी, घास उगाने के बारे मे आप का क्या विचार है?"
नेता जी उसे बेठाने का इशारा करते हुए बोले, " पहले मैं इनसानों की खुराक के बारे में बता लूं, तुम्हारी खुराक के बारे मे बाद मे बताऊंगा।

**********************************************************************

एक टिप्पणी भेजें

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top