5
Advertisement

सडक पर एक मजमेबाज़: "यह दवा ज़रुर लिजिये। आपकी जवानी लौट आयेगी। मुझे देखिए, इस दवा के कारण ही तीन सौ साल की उमर तक पहुँच गया हूँ।"

क्या यह तीन सौ साल का हो सकता है? मज़मे मे से एक व्यक्ति ने उसके नौजवान सहायक से पूछा। " कह नही सकता। क्योकि मैने सिर्फ सवा सौ साल से ही इसके साथ काम किया है।" सहायक ने जवाब दिया ।

*****************************************************

चोर (बन्दूक तनते हुए)- "ज़िन्दगी चाहते हो तो अपना पर्स मेरे हवाले कर दो।"

व्यक्ति - "यह लो।"

चोर- " कितने मुर्ख हो तुम, मेरी बंदुक मे तो गोली ही नही थी। हा..हा...हा।"

व्यक्ति - " और मेरे पर्स मे भी कहां रुपये थे। हो..हो..हो..।"


*************************************************************

बेटा- "क्या बताऊ पापा, सामने वाले मकान मे एक लडकी हर रोज़ खिडकी मे से रुमाल हिलाती है पर खिडकी का शिशा कभी नही खोलती।"

पिता- बहको मत बेटे, वह तुझे देख कर रुमाल नही हिलाती । दर असल वह इस मकान की नौकरानी है जो रोज़ खिडकी के शिशे साफ करती है।

***************************************************************

नया सिपाही (इंस्पैक्टर से), "सर ये बिलकुल गलत है कि मैं उस चोर से डर गया था।"

इंस्पैक्टर, "तो तुम उस गाडी के पिछे क्यों छिपे थे?"

नया सिपाही, "जी वह तो मैं कुत्ता देख कर छिपा था ।"

****************************************************************

अध्यापक," बाबर भारत मे कब आया?"

बंटी, "पता नही सर।"

अध्यापक, " बोर्ड पर नही देख सकते, नाम के साथ ही लिखा है।"

बंटी, मैने सोचा, शायद वह उसका फ़ोन नम्बर है।"


एक टिप्पणी भेजें

  1. हा..हा..हा.. मज़ा आ गया....."

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा.हा.हा.मजेदार रही...

    _______
    "पाखी की दुनिया" में इस बार "अंडमान में रिमझिम-रिमझिम बारिश"

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top