8
प्रिय मित्रों , हिंदी साहित्य के छात्रों एवं पाठकों के लिए उर्दू भाषा की जानकारी बहुत आवश्यक है, क्योंकि हिंदी साहित्य को पढ़ते समय उर्दू भाषा के शब्द बहुत बार मिल जाते है, ऐसे समय में अगर हम उन शब्दों का सही सही अर्थ नहीं जानते तो बहुत मुश्किल हो जाती है। अत : ऐसे समय में शब्दकोष की आवश्यकता पड़ती है, इन्टरनेट पर उर्दू हिंदी शब्दकोष लगभग नहीं के बराबर है। लेकिन जीतेन्द्र चौधुरी द्वारा निर्मित वेब-पत्र पर ऑनलाइन उर्दू हिंदी शब्दकोष उपलब्ध है। यह शब्दकोष हिंदी साहित्य के पाठकों के लिए बहुत ही उपयोगी है। इसके लिए जीतेन्द्र चौधुरी जी को 'हिंदीकुंज' की तरफ से बहुत बहुत साधुवाद।


उर्दू हिंदी शब्दकोष देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Post a Comment Blogger

  1. आ० चौधरी जी ने बहुत ही अच्छा काम किया है .उनकी साईट का ’लिन्क’ मैने अपने साईट
    www.urdu-se-hindi.blogspot.com

    पर दे दिया है
    उनको मेरी तरफ़ से बहुत-बहुत धन्यवाद
    सादर
    आनन्द.पाठक

    ReplyDelete
  2. mere sms mile

    ReplyDelete
  3. आपके योगदान की हृदय से सराहना करता हूँ
    डा.राजेंद्र तेला"निरंतर"
    http://nirantar-ki-kalam-se.blogspot.com/

    ReplyDelete
  4. Bhasha se bhasha jud kar apne vistaar ko bada rahi hai. aapka yogdan usi disha mein kabile tareef hai

    ReplyDelete
  5. सुनील भूआर्य9 October 2010 at 21:46

    मुझे शुरू से ही उर्दू शब्दों का लगाव रहा है....
    ऐसा लगता है की उसमे कितना अपनापन है... हालाँकि लिख तो नहीं सकते पर अच्छे उर्दू शब्दों का इस्तेमाल तो कर सकते हैं ...
    आपके इस सहयोग के किये शुक्रिया....

    ReplyDelete
  6. hindi kunj pahli baar dekh raha hoon. aapka kaam prashanshniy prateet ho raha hai, detail phir kabhi.
    nityanad` tushar`.

    ReplyDelete
  7. aaapke prayaso ka mera vinamra pranaam. malik kaamyabi bakhsche.......

    ReplyDelete
  8. SWAGAT HAI AAP SABHI KA WATAN-E-AZEEZ HINDUSTAN ME URDU ZABAN AISE HI HAI JAISE RAG-E-JAAN ME LAHU, BAHUT PYARI BAAT OR BAHUT PYARE KHAYAL.......

    ReplyDelete

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top