15
Advertisement

गोलू-मोलू और पक्के दोस्त थे। गोलू जहां दुबला-पतला था, वहीं मोलू मोटा गोल-मटोल। दोनों एक-दूसरे पर जान देने का दम भरते थे, लेकिन उनकी जोड़ी देखकर लोगों की हंसी छूट जाती। एक बार उन्हें किसी दूसरे गांव में रहने वाले मित्र का निमंत्रण मिला। उसने उन्हें अपनी बहन के विवाह के अवसर पर बुलाया था।


उनके मित्र का गांव कोई बहुत दूर तो नहीं था लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए जंगल से होकर गुजरना पड़ता था। और उस जंगल में जंगली जानवरों की भरमार थी।


दोनों चल दिए...जब वे जंगल से होकर गुजर रहे थे तो उन्हें सामने से एक भालू आता दिखा। उसे देखकर दोनों भय से थर-थर कांपने लगे। तभी दुबला-पतला गोलू तेजी से दौड़कर एक पेड़ पर जा चढ़ा, लेकिन मोटा होने के कारण मोलू उतना तेज नहीं दौड़ सकता था। उधर भालू भी निकट आ चुका था, फिर भी मोलू ने साहस नहीं खोया। उसने सुन रखा था कि भालू मृत शरीर को नहीं खाते। वह तुरंत जमीन पर लेट गये और सांस रोक ली। ऐसा अभिनय किया कि मानो शरीर में प्राण हैं ही नहीं। भालू घुरघुराता हुआ मोलू के पास आया, उसके चेहरे व शरीर को सूंघा और उसे मृत समझकर आगे बढ़ गया।


जब भालू काफी दूर निकल गया तो गोलू पेड़ से उतरकर मोलू के निकट आया और बोला, ‘‘मित्र, मैंने देखा था....भालू तुमसे कुछ कह रहा था। क्या कहा उसने ?’’


मोलू ने गुस्से में भरकर जवाब दिया, ‘‘मुझे मित्र कहकर न बुलाओ...और ऐसा ही कुछ भालू ने भी मुझसे कहा। उसने कहा, गोलू पर विश्वास न करना, वह तुम्हारा मित्र नहीं है।’’


सुनकर गोलू शर्मिन्दा हो गया। उसे अभ्यास हो गया था कि उससे कितनी भारी भूल हो गई थी। उसकी मित्रता भी सदैव के लिए समाप्त हो गई। शिक्षा—सच्चा मित्र वही है जो संकट में काम आए।

एक टिप्पणी भेजें

  1. mujh panchtantr ki kahaniyan bhaut pasand hi, plz sand me panchtantr kahaniyan on alpes23@gmail.com, this is my email id.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेनामीजून 29, 2011 9:13 pm

    wow ......these are really cool ! i luv them by heart !
    awesome !

    उत्तर देंहटाएं
  3. I am fan of panchatantra please send me some more story on my email adress that is pokhrajnaik@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. PLZ SEND ME PANCHTANTRA KAHANIYA ON amit.girishswitches@gmail.com.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेनामीजून 22, 2012 11:56 am

    haa yeh sach ke agar dosti ke hai to nibhani bhee chahiye

    उत्तर देंहटाएं
  6. बेनामीजून 22, 2012 11:58 am

    its true that pani pije chankar and dosti kije jankar.....

    उत्तर देंहटाएं
  7. Its true that pani pije chankar and dosti kije jankar ....My favourite book ps panchtantra....

    उत्तर देंहटाएं
  8. बेनामीजून 23, 2012 5:14 pm

    hay my name is d.k. i most lick panchtantar ke khani
    this my faibaret topik becouse my aim is story righter

    उत्तर देंहटाएं
  9. I Loved this story very much. Now I can ALSO GIVE MY LIFE FOR MY FRIEND

    उत्तर देंहटाएं
  10. Panchtantra ki kahani mujhko soon psalm raat hai sai so jao but

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top