28
Advertisement

जय शंकर प्रसाद : एक परिचय

आधुनिक हिन्दी साहित्य के प्रतिभाशाली कवि श्री जयशंकर प्रसाद जी का जन्म सन १८८९ में काशी के एक संपन्न वैश्य परिवार में हुआ था। इनके पिता देवीप्रसाद जी तम्बाकू ,सुरती और सूघनी का व्यापार करते थे, इसलिए उन्हें सूघनी साहू कहा जाता था। प्रसाद की आयु जब १२ बर्ष की थी ,तभी इनके पिता का देहांत हो गया। अतः इनकी स्कूल की शिक्षा आठवी के बाद न हो सकी । घर पर रहकर ही इन्होने हिन्दी,संस्कृत ,उर्दू ,अंग्रेजी और फारसी में अच्छी योग्यता प्राप्त कर ली। इन्होने वेद,उपनिषद ,इतिहास और दर्शन का गंभीर रूप से अध्यन किया था। बाल्यकाल से ही इनकी रूचि कविता लिखने में थी। पहले ये ब्रज भाषा में कविता लिखते थे, किंतु बाद में खड़ी बोली में लिखने लगे। सन १९३७ में क्षय रोग से इनकी मौत हो गई।
रचनायें :
इन्होने काव्य ,नाटक ,कहानी ,उपन्यास तथा निबंध आदि साहित्य की हर बिधा में लेखनी चलायी तथा सभी क्षेत्र में सफलता प्राप्त की । मूलतः ये कवि थे। इनकी प्रमुख रचनाये है:
कविताये:महाराणा का मह्त्व, चित्राधार ,कानन-कुसुम ,लहर ,झरना ,आंसू ,करुणालय और कामायनी
नाटक: अजातशत्रु ,एक घूंट ,चन्द्रगुप्त ,स्कंदगुप्त और धुवास्वामिनी
कहानी -संग्रह : छाया,प्रतिध्वनि ,आंधी,आकाशदीप और इंद्रजाल ।
उपन्यास : कंकाल ,तितली ,इरावती (अपूर्ण )
निबंध संग्रह : काव्य कला तथा अन्य निबंध।

एक टिप्पणी भेजें

  1. aapake dwara kiya gaya prayas sahitya ke prasar me mahatvapurna yogdan hai.vidyarthi, shotharthi evam sahitya ke pathak ko achha sahitya padane ko mila.(lekin truti par dhyan de- jay shankar prasad ki janma tithi 1890 hai)
    thanks

    उत्तर देंहटाएं
  2. KRIPAYA BATAYE KI JAYSHANKAR PRASAD JI KI JANM TITHI 1889 HAI YA 1890 . APKI BAHUT KRIPA HOGI..

    उत्तर देंहटाएं
  3. Jayasankar Prasad ka janm san 1889 men huaa tha.

    उत्तर देंहटाएं
  4. achha hai ham jaiso ke liye yah ek aashirwaad hi bana pada hai hindi kunj ka raday se aabhaar vykt karta hu..

    उत्तर देंहटाएं
  5. JAI SHANKAR PRASAD KA JANM 1889 MEN HUAA THA.

    उत्तर देंहटाएं
  6. BECAUSE IT GIVEN IN MY CBSE N.C.E.R.T HINDI BOOK SO, THAT'S WHY IT WILL PROVE.

    उत्तर देंहटाएं
  7. please jai shanker prasad ki sahi janm tithi btayen

    उत्तर देंहटाएं
  8. Jai sankar parsad k koi bachpan.k photo dikaiye
    plzzzz.

    उत्तर देंहटाएं
  9. मेरे लिए जय शंकर प्रसाद के साहित्य विशिष्टताओं दे दीजिए

    उत्तर देंहटाएं
  10. mujhe dhruvaswamini natak ki sameeksha chahiye thi

    उत्तर देंहटाएं
  11. किए गए
    प्रयास सराहनीय हैं
    👌

    उत्तर देंहटाएं
  12. App ka hindi kavya me mahatwaporn yogdan hai

    उत्तर देंहटाएं
  13. Hindi sajityae apka mahatwapurna sthan hai
    Mera name.rohit kasodham

    उत्तर देंहटाएं
  14. प्रसादजी के नाटक बहुत उत्कृष्ट है पुरूस्कार कहानी साहित्य में विशिष्ट स्थान रखती है.

    उत्तर देंहटाएं
  15. I want his natak in a summary can anyone help me

    उत्तर देंहटाएं
  16. Skandgupt ke patra ka nam bataye ya nayak ka nam bataye

    उत्तर देंहटाएं
  17. plz. koi mujhe batayaga kya k jayshankar ji duwara birisit mahakabya ka naam plz.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !
टिप्पणी के सामान्य नियम -
१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें .
२. किसी की भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें .
३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .

 
Top